UP के पूर्व DGP का बड़ा खुलासा- मुख्तार अंसारी का ‘किला’ है ये एंबुलेंस, सैटेलाइट फोन, हथियारों से लैस

यूपी के पूर्व डीजीपी ब़ृजलाल ने मुख्तार अंसारी को लेकर बड़ा खुलासा किया है.

Lucknow News: उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी बृजलाल (Former DGP Brijlal) ने माफिया मुख्तार अंसारी की एंबुलेंस को लेकर बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि वर्षों से ये एंबुलेंस मुख्तार के लिए तैनात है. ये चलता-फिरता मुख्तार का किला है.

लखनऊ. पंजाब (Punjab) में मोहाली कोर्ट में पेशी के दौरान नजर आयी माफिया मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) की एंबुलेंस (Ambulance) को लेकर खुलासे हो रहे हैं. अब तक मिली जानकारी के मुताबिक मुख्तार 2013 से ही इस एंबुलेंस का इस्तेमाल कर रहा है. अलका राय के अस्पताल के नाम से 2013 में ही इस गाड़ी का रजिस्ट्रेशन हुआ. गाड़ी का पैसा भी मुख्तार ने दिया था. बाद में कागज को ट्रांसफर कराने की बात थी लेकिन ट्रांसफर हुआ नहीं. इस बीच उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी बृजलाल (Former DGP UP Brijlal) ने मुख्तार अंसारी की लक्जरी बुलेटप्रूफ एम्बुलेंस को लेकर बड़ा खुलासा किया है. बृजलाल ने कहा है कि ये मामूली एम्बुलेंस नहीं बल्कि मुख़्तार का चलता फिरता क़िला है.

Youtube Video

उन्होंने कहा कि यह सिर्फ एंबुलेंस नहीं बल्कि चलता-फिरता मुख्तार का वो साम्राज्य है, जिसके जरिए मुख़्तार अपने कारनामे अंजाम देता रहा है. इस गाड़ी में सेटेलाइट फोन के अलावा हथियार, असलहे और गुर्गे भी रहते हैं. मुख्तार इनका इस्तेमाल करता है. इस एम्बुलेंस का ड्राइवर मुख़्तार का बेहद करीबी है, जो मुहमदाबाद का रहने वाला है, उसका नाम सलीम है. उत्तर प्रदेश में भी जेल के बाहर इसकी यही एम्बुलेंस खड़ी रहती थी. जिसके साथ आगे पीछे गाड़ी से गुर्गे भी चलते थे.

मुख्तार की एंबुलेंस लग्जरी और बुलेटप्रूफ, सरकार इसकी जांच कराएगीवहीं एम्बुलेंस को लेकर सियासी घमालान भी छिड़ गया है. सरकार के मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि सपा और कांग्रेस सरकारों ने मुख्तार अंसारी को सपोर्ट किया उसी का परिणाम है कि आज सबसे बड़ा गैंगस्टर बन गया है. वह कैसे निजी एंबुलेंस का इस्तेमाल कर रहा था? यह बड़ा सवाल है. एंबुलेंस एक अस्पताल के नाम पर है. हम पूरे मामले की जांच कराएंगे, कार्यवाही भी करेंगे.

पंजाब सरकार को एंबुलेंस पर देना चाहिए बयान

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने पिछली सरकारों को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि आखिर वह कौन सी सरकार थी? जिसके कार्यकाल में मुख्तार को एंबुलेंस मिली. वह भी निजी इस्तेमाल के लिए. उसको लग्जरी बनाया गया, बुलेट प्रूफ बनाया गया. पंजाब सरकार को भी बयान देना चाहिए कि आखिर निजी एंबुलेंस का इस्तेमाल मुख्तार अंसारी पंजाब में कैसे कर रहा है? इसकी भी जांच होनी चाहिए.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,735FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles