Rajsthan News: The Man Who Failed In The Constable Remained A Fake Ips For 4 Years Was Arrested Jodhpur – असली वर्दी में नकली आईपीएस: कांस्टेबल की परीक्षा में फेल युवा युवक, तो फर्जी अधिकारी बन करने लगा लूट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पाली
Published by: दीप्ति मिश्रा
Updated Sat, 03 Apr 2021 03:37 PM IST

ख़बर सुनें

राजस्थान के पाली जिले से एक फर्जी आईपीएस का भंडाफोड़ हुआ है। यहां सिर्फ 10वीं तक पढ़ा पाली का शातिर युवक चार साल से फर्जी आईपीएस बनकर लोगों को ठग रहा था वो भी बकायदा वर्दी पहनकर। वर्दी में भी आईपीएस के बैजेज, अशाेक स्तंभ, स्टार के बैजेज लगे हुए हैं। पाली कोतवाली पुलिस ने युवक के कब्जे से आइपीएस की वर्दी, एयर गन, वॉकी टॉकी हैंडसेट व फर्जी आइकार्ड भी बरामद किया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

पाली में नया स्टैंड पर गुरुवार की रात आरोपी पकड़ा गया। वह खुद को सीबीआई का एसपी बताकर ट्रैवल एजेंट पर धौंस जमा रहा था ताकि एसी बस में मुफ्त में मुंबई जा सके। ट्रैवल बस एजेंट की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पाली सर्वोदय नगर निवासी फुसाराम पुत्र रामचंद्र भार्गव को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने आईडी कार्ड पर राजवीर शर्मा पुत्र रामप्रसाद शर्मा लिखा हुआ है। प्रारंभिक पड़ताल में उसके द्वारा पूर्व में सेलटैक्स अधिकारी बन कर लोगो को धमकाने और अवैध वसूली करने की बात सामने आई है। 

हैरत में पड़ गई गिरफ्तार करने वाली टीम 
एसपी कालूराम रावत ने बताया कि नया बस स्टैंड चाैकी प्रभारी ओमप्रकाश चाैधरी और उनकी टीम भी आराेपी काे देखकर हैरत में पड़ गई क्याेंकि वह हुबहू आईपीएस जैसा लग रहा था। जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने जब आरोपी फुसाराम को थाने में लाकर पूछताछ की, तो उसने सारी सच्चाई उगल दी। आराेपी काे शुक्रवार काे काेर्ट में पेश किया गया, वहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। आराेपी की वर्दी, उस पर लगे आईपीएस, अशाेक स्तंभ तथा स्टार के बेजेज, फर्जी आईकार्ड, नकली एयरगन समेत कई प्रतिबंधित वस्तुएं जब्त कर ली गई हैं।

बताया जा रहा है कि इसी आरोपी ने करीब चार साल पहले पाली के ही वीडी नगर में एक किशाेरी काे खुद काे आईपीएस अधिकारी बताते हुए धमकाने का प्रयास किया था। तब इसे पकड़कर थाने लाया गया था, लेकिन उस वक्त वर्दी में नहीं हाेने की वजह से सिर्फ चेतावनी देकर ही छाेड़ दिया गया था।

राजस्थान के पाली जिले से एक फर्जी आईपीएस का भंडाफोड़ हुआ है। यहां सिर्फ 10वीं तक पढ़ा पाली का शातिर युवक चार साल से फर्जी आईपीएस बनकर लोगों को ठग रहा था वो भी बकायदा वर्दी पहनकर। वर्दी में भी आईपीएस के बैजेज, अशाेक स्तंभ, स्टार के बैजेज लगे हुए हैं। पाली कोतवाली पुलिस ने युवक के कब्जे से आइपीएस की वर्दी, एयर गन, वॉकी टॉकी हैंडसेट व फर्जी आइकार्ड भी बरामद किया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

पाली में नया स्टैंड पर गुरुवार की रात आरोपी पकड़ा गया। वह खुद को सीबीआई का एसपी बताकर ट्रैवल एजेंट पर धौंस जमा रहा था ताकि एसी बस में मुफ्त में मुंबई जा सके। ट्रैवल बस एजेंट की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पाली सर्वोदय नगर निवासी फुसाराम पुत्र रामचंद्र भार्गव को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने आईडी कार्ड पर राजवीर शर्मा पुत्र रामप्रसाद शर्मा लिखा हुआ है। प्रारंभिक पड़ताल में उसके द्वारा पूर्व में सेलटैक्स अधिकारी बन कर लोगो को धमकाने और अवैध वसूली करने की बात सामने आई है। 

हैरत में पड़ गई गिरफ्तार करने वाली टीम 

एसपी कालूराम रावत ने बताया कि नया बस स्टैंड चाैकी प्रभारी ओमप्रकाश चाैधरी और उनकी टीम भी आराेपी काे देखकर हैरत में पड़ गई क्याेंकि वह हुबहू आईपीएस जैसा लग रहा था। जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने जब आरोपी फुसाराम को थाने में लाकर पूछताछ की, तो उसने सारी सच्चाई उगल दी। आराेपी काे शुक्रवार काे काेर्ट में पेश किया गया, वहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। आराेपी की वर्दी, उस पर लगे आईपीएस, अशाेक स्तंभ तथा स्टार के बेजेज, फर्जी आईकार्ड, नकली एयरगन समेत कई प्रतिबंधित वस्तुएं जब्त कर ली गई हैं।


आगे पढ़ें

पुलिस ने चार साल पहले दी थी चेतावनी

Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,733FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles