Political violence in Bengal PM talks to Governor Mamta claims BJP wants Presidents rule

ममता बनर्जी. (पीटीआई फाइल फोटो)

Political violence in Bengal: भारतीय जनता पार्टी के अनुसार राज्य में 12 कार्यकर्ताओं की मौत हो गई है. पीएम नरेंद्र मोदी से फोन पर बात के बाद राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर क्षोभ प्रकट किया है.

कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में विधानसभा चुनाव के परिणाम के बाद बढ़ी राजनीतिक हिंसा के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने मंगलवार को राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankar) से बातचीत की. इस दौरान पीएम ने राज्य में राजनीतिक हिंसा के बढ़ने पर निराशा प्रकट की. भारतीय जनता पार्टी के अनुसार राज्य में 12 कार्यकर्ताओं की मौत हो गई है.  पीएम से फोन पर बात के बाद राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर क्षोभ प्रकट किया है. वहीं तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने आशंक जताई है कि भाजपा, राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाना चाहती है. राज्यपाल के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया कि – ‘प्रधानमंत्री ने फोन पर बातचीत में कानून-व्यवस्था की चिंताजनक स्थिति पर गहरा क्षोभ प्रकट किया। मैंने प्रधानमंत्री से हिंसा, लूटपाट, आगजनी की घटनाओं, हत्याओं पर गहरी चिंता व्यक्त की.’ पुलिस रोके शर्मसार करने वाली हिंसा- राज्यपाल राज्यपाल ने ट्वीट कर सवाल किया, ‘पश्चिम बंगाल पुलिस को लोकतंत्र को शर्मसार करने वाली राजनीतिक हिंसा, तोड़फोड़, आगजनी, हत्याओं को रोकना चाहिए. चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में ही हिंसा क्यों होती है? लोकतंत्र पर हमला क्या हो रहा है?’ धनखड़ ने कहा, ‘खौफनाक हालात की खबरें मिल रही है। डर के कारण लोग जान बचाने के लिए भाग रहे हैं.’ममता ने की बैठक, राष्ट्रपति शासन की जताई आशंका वहीं कार्यवाहक सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि वह शपथ ग्रहण के बाद इस मुद्दे से निपटेंगीं. हालांकि उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि पार्टी राज्य में राष्ट्रपति शासन चाहती है. ममता ने दावा किया कि विधानसभा चुनाव के बाद  भाजपा ‘सांप्रदायिक हिंसा’ को बढ़ावा दे रही है. इसके साथ ही बनर्जी ने हिंसा के मुद्दे पर मंगलवार को शीर्ष प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की. एक अधिकारी ने बताया कि बनर्जी के कालीघाट निवास पर यह बैठक हुई, जिसमें कार्यवाहक मुख्यमंत्री ने स्थिति का जायजा लिया. बैठक में मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय, गृह सचिव एच के द्विवेदी, पुलिस महानिदेशक पी नीरजनयन, कोलकाता के पुलिस आयुक्त सोमेन मित्रा मौजूद थे.

वामदल के नेता सीताराम येचुरी ने भी ममता सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कुछ तस्वीरें ट्वीट कर दावा किया कि टीएमसी के कथित गुंडों ने कोरोना महामारी में लोगों की मदद कर रहे पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमला किया. येचुरी ने ट्वीट कर कहा- ‘क्या बंगाल में हिंसा की रिपोर्ट, इनके विजय का उत्सव है? यह निंदनीय है. इसका विरोध होना चाहिए. कोरोना संक्रमण का मुकाबला करने के बजाए टीएमसी इन कामों में लिप्त है. सीपीआईएम हमेशा लोगों की मदद करने के लिए मौजूद है.’ भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि टीएमसी को चुनाव जीतने के बाद उदार होना चाहिए था. उन्होंने हिंसा को दर्दनाक और दुखद बताया.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,913FansLike
2,756FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles