IPL 2021 के दौरान वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप जीतने की तैयारी करेंगे टीम इंडिया के खिलाड़ी-bcci ready to provide red duke balls to indian cricketers during ipl world test championship final

आईपीएल के दौरान होगी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप जीतने की तैयारी! (AP)

इंडियन प्रीमियर लीग 2021 (IPL 2021) के सफल आयोजन के साथ-साथ बीसीसीआई (BCCI) की नजर इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) के फाइनल पर भी है. इसे जीतने के लिए बीसीसीआई ने बड़ी योजना बनाई है.

नई दिल्ली. भारत के टॉप टेस्ट खिलाड़ी अगले दो महीने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में व्यस्त रहेंगे लेकिन यदि वे इस टी20 टूर्नामेंट के दौरान लाल गेंद से अभ्यास करना चाहेंगे तो भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) उन्हें ड्यूक गेंदें उपलब्ध कराने के लिये तैयार है. ऐसा आईपीएल के बाद भारत के टेस्ट कार्यक्रम को देखते हुए किया जा सकता है. भारत को आईपीएल के बाद 18 से 22 जून के बीच न्यूजीलैंड के खिलाफ साउथम्पटन में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल (WTC Final) खेलना है और फिर इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेलनी है. लेकिन यह पूरी तरह से एक विकल्प होगा जिसका बीसीसीआई से अनुबंधित टेस्ट खिलाड़ी लाभ उठा सकते हैं.

BCCI खिलाड़ियों को देगा लाल ड्यूक गेंद!
बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘यदि किसी खिलाड़ी को लगता है कि उसे लाल गेंद से भी अभ्यास करना चाहिए तो बीसीसीआई उन्हें लाल ड्यूक गेंदें उपलब्ध कराएगा. किसी भी तरह की मदद के लिये राष्ट्रीय टीम के कोच तुरंत ही उनकी मदद करेंगे. ‘ आईपीएल फाइनल और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के बीच केवल 20 दिन का अंतर है और इसलिए बोर्ड ने यह विकल्प सामने रखा है.

IPL 2021: आकाश चोपड़ा ने बताया प्लेऑफ की 4 टीमों का नाम, चेन्नई-बैंगलोर का नाम गायब!अधिकारी ने कहा, ‘विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की तैयारी के लिये आपको पूरे 20 दिन के अभ्यास का अवसर नहीं मिलेगा. यदि आईपीएल 29 मई को समाप्त होता है और टीम 30 या 31 मई को दौरे पर जाती है तो खिलाड़ियों को ब्रिटेन में एक सप्ताह के कड़े पृथकवास पर रहना होगा. ऐसे में आपके पास नेट अभ्यास के लिये केवल 10 दिन का समय बचेगा. न्यूजीलैंड की टीम इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों में खेलने के बाद विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल तें उतरेगी जबकि भारतीय टीम को टी20 प्रारूप के तुरंत बाद लंबे प्रारूप में खेलना होगा. माना जा रहा है कि चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को अपनी फ्रेंचाइजी टीमों से खेलने का अधिक मौका नहीं मिलेगा और ऐसे में वे इस समय का उपयोग टेस्ट मैचों की तैयारी के लिये कर सकते है. इसी तरह से मोहम्मद शमी लाल ड्यूक गेंद से गेंदबाजी का अभ्यास कर सकते हैं.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,733FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles