Gmail का पासवर्ड भूलने पर सीधे गूगल के सीईओ सुंदर पिचई से मदद मांगने पहुंच गया शख्स

सुंदई पिचई से एक यूजर ने मदद मांगी है. (फाइल फोटो: AP)

Viral Story: गूगल (Google) सीईओ पिचई ने कोरोना काल में भारत की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. उन्होंने घोषणा की है कि गूगल और उनकी टीम ने 135 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद करने का फैसला किया है. हालांकि इसी दौरान एक शख्स उनसे जीमेल का पासवर्ड रिसेट करने में मदद मांगना दिखा.

नई दिल्ली. क्या होता है जब आप अपना जीमेल (G-Mail) का पासवर्ड भूल जाते हैं. दोबारा लॉगिन की कोशिश करते हैं या फॉरगॉट पासवर्ड (Forgot Password) का विकल्प तलाशते हैं. केवल जीमेल ही नहीं, लगभग हर तरह के डिजिटल लॉगिन का पासवर्ड भूलने पर यही प्रक्रिया दोहराई जाती है. अब गूगल अकाउंट का पासवर्ड भूलने पर कोई भी शायद सीधे कंपनी के सीईओ सुंदर पिचई (Sundar Pichai) तक तो नहीं पहुंचेगा. हालांकि, आपका ऐसा सोचना गलत है. एक शख्स है, जिसने अपनी अकाउंट संबंधी परेशानी सीधे पिचई के सामने रख दी. आइए जानते हैं कि पूरा मामला क्या है. दरअसल, पिचई ने कोरोना वायरस महामारी के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे भारत की मदद के लिए मदद का ऐलान किया था. इसके संबंध में उन्होंने ट्वीट किया था. अब @Madhan67966174 नाम के एक ट्विटर यूजर ने पिचई के ट्वीट का जवाब देते हुए पासवर्ड के संबंध में मदद मांगी है. मदन नाम के इस यूजर ने लिखा ‘हैलो सर, आप कैसे हैं. मुझे जीमेल आईडी पासवर्ड में एक मदद चाहिए. मैं यह भूल गया हूं कि पासवर्ड रीसेट कैसे करते हैं. प्लीज मदद करें.’ (ये भी पढ़ें- पहले से और भी सस्ता मिल रहा है Samsung का नया बजट स्मार्टफोन, मिलेगी 5000mAh की बैटरी, HD+ डिस्प्ले) इस ट्वीट के सामने आते ही अन्य ट्विटर यूजर्स ने भी कमान संभाल ली है. लोग लगातार इस ट्वीट पर मजेदार प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. भारत में कोरोना वायरस संकट बेलगाम हो गया है. ऐसे में सीईओ पिचई ने देश की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है. बीते सोमवार को उन्होंने घोषणा की है कि गूगल और उनकी टीम ने 135 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद करने का फैसला किया है.

कंपनी की तरफ से बताया गया है कि ये आर्थिक मदद यूनिसेफ और गिवइंडिया के जरिए दी जा रही हैं. दुनिया के कई देशों ने भी भारत की मदद करने का फैसला किया है. ब्रिटेन, अमेरिका समेत कई देश सहायता के लिए आगे आए हैं. बीते मंगलवार को ही ब्रिटेन की तरफ से भारत को वेंटिलेटर समेत कई अन्य मेडिकल उपकरणों की खेप मिली है. वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी मदद का वादा किया है. उन्होंने इसके संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चर्चा भी की थी.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,913FansLike
2,769FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles