आरबीआई गवर्नर का बड़ा बयान! कोरोना संकट से उबरकर तेजी से पटरी पर लौट रही है इकोनॉमी

0
3
आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था जल्‍द पटरी पर लौट आएगी.

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था जल्‍द पटरी पर लौट आएगी.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Governor Shaktikanta Das) ने कहा कि भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था (Indian Economy) पटरी पर लौटने वाली है. ऐसे में फाइनेंशियल इंस्‍टीट्यूशंस के पास पर्याप्‍त पूंजी होना बहुत जरूरी है. उन्‍होंने कहा कि देश को कोविड-19 (Covid-19) की चुनौतियों से निपटने के लिए राजकोषीय विस्‍तार (Fiscal Expansion) की राह चुननी होगी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 21, 2020, 11:00 PM IST

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनियाभर की बड़ी से बड़ी अर्थव्‍यवस्‍थाएं डांवाडोल हो गई हैं. भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था भी इससे अछूती नहीं है. हालांकि, अब अलग-अलग इंडिकेटर्स से देश की अर्थव्‍यवस्‍था के पटरी पर लौटने के संकेत मिलने लगे हैं. वहीं, बाजार में मांग भी धीरे-धीरे बढ़ने लगी है. लॉकडाउन के दौरान राष्‍ट्रीय बेराजगारी दर 23 फीसदी के पार पहुंच गई थी. अब इसमें जबरदस्‍त सुधार हुआ है और ये 6 फीसदी के आसपास आ गई है. इसी बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी आज इकोनॉमी के पटरी पर लौटने की बात कही है.

आरबीआई की उदार नीतियों के चलते उबर रहा है देश
आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि देश इकोनॉमिक रिवाइवल के मुहाने पर पहुंच चुका है. हालांकि, ऐसे में बहुत जरूरी है कि वित्तीय सस्‍थानों के पास आर्थिक वृद्धि का समर्थन करने के लिए पर्याप्त पूंजी होनी चाहिए. उन्‍होंने पूर्व नौकरशाह और वित्त आयोग के मौजूदा चेयरमैन एनके सिंह की किताब ‘पोट्रेट्स ऑफ पावर: हॉफ ए सेंचुरी ऑफ बिंग एट रिंगसाइड’ के विमोचन के मौके पर कहा कि कई वित्तीय इकाइयां पहले ही पूंजी जुटा चुकी हैं और कुछ पूंजी जुटाने की योजना बना रही हैं. साथ ही कहा कि केंद्रीय बैंक और केंद्र सरकार की उदार या अनुकूल मौद्रिक व राजकोषीय नीतियों से देश इकोनॉमिक रिवाइवल के करीब है.

ये भी पढ़ें- रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी! रेलवे ने दी सफाई, त्‍योहारी सीजन में चलाई गईं स्‍पेशल ट्रेनों में नहीं देना होगा ज्‍यादा किरायाकोरोना संकट के बाद पेश करनी होगी मजबूत योजना

शक्तिकांत दास ने कहा कि देश को कोविड-19 की चुनौतियों से निपटने के लिए राजकोषीय विस्तार का रास्ता चुनना होगा. साथ ही कहा कि इस संकट के बाद सरकार को राजकोषीय मजबूती की स्पष्ट योजना जारी करनी होगी. कोविड-19 के बाद एक बार महामारी पर नियंत्रण हासिल होने के बाद सरकार निश्चित रूप से आगे की राजकोषीय याजना की जानकारी पेश करेगी. उन्होंने कहा कि मौजूदा आर्थिक माहौल को देखते हुए हमने मौद्रिक और राजकोषीय नीतियों में उदार रुख अपनाया हुआ है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here