दिग्‍गज भाारतीय क्रिकेटर पाटिल ने नींद में ही दुनिया को कहा अलविदा | cricket – News in Hindi

0
1
झारखंड टी20 लीग को मिला टाइटल स्‍पॉन्‍सर

सदाशिव रावजी 86 साल के थे (सांकेतिक फोटो )

पाटिल ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ कमाल की गेंदबाजी की थी. डेब्‍यू मैच में न्‍यूजीलैंड के दिग्‍गज खिलाड़ी जॉन रेड उनके निशाने पर रहे थे.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 15, 2020, 5:20 PM IST

मुंबई. भारतीय क्रिकेट जगत के लिए बुरी खबर आ रही है. भारत के दिग्‍गज क्रिकेटर सदाशिव रावजी ने दुनिया को अलविदा कह दिया है. पूर्व क्रिकेटर सदाशिव रावजी पाटिल का मंगलवार को कोल्हापुर में उनके आवास पर निधन हो गया. वह 86 साल के थे और उनके परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां हैं.
कोल्हापुर जिला क्रिकेट संघ के पूर्व पदाधिकारी रमेश कदम ने पीटीआई को बताया कि पाटिल का कोल्हापुर की रुईकर कॉलोनी में अपने आवास पर मंगलवार तड़के सोते हुए निधन हो गया.

तेज गेंदबाजी ऑललराउंडर पाटिल ने सिर्फ एक ही टेस्‍ट मैच में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया, मगर उस एक ही मैच में उन्‍होंने अपनी गेंदबाजी का कमाल दिखा दिया था. हालांकि बाद में उन्‍हें मौका नहीं मिल पाया .

एक टेस्‍ट में किया था भारत का प्रतिनिधित्‍व सदाशिव ने 1955 में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच में भारत का प्रतिनिधित्व किया. इसके मैच में उन्‍होंने 51 रन देकर दो विकेट लिए थे और इस मैच की दोनों पारियों में उनके शिकार न्‍यूजीलैंड के दिग्‍गज खिलाड़ी जॉन रेड बने थे. पहली पारी में सदाशिव ने जॉन को 39 रन पर एलबीडब्‍यू आउट किया तो दूसरी पारी में 4 रन पर ही कैच आउट करवा दिया था.

यह भी पढ़ें: 

IPL 2020, Profile: 20 लाख रुपए में राजस्थान ने खरीदा था 17 साल का यह खिलाड़ी, अर्धशतक लगाकर बन गया था स्टार

IPL 2020 : एमएस धोनी की बढ़ी चिंता, सुरेश रैना की जगह लेने वाले बल्‍लेबाज को अभी भी कोरोना

पाटिल ने 1952-1964 के बीच 36 प्रथम श्रेणी मैचों में महाराष्ट्र का प्रतिनिधित्‍व किया, जिसमें उन्‍होंने 3 अर्धशतक सहित कुल 866 रन बनाए. वहीं कुल 83 विकेट लिए. प्रथम श्रेणी क्रिकेट में गेंदबाजी में उनका सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन 38 रन पर पांच विकेट रहा. जिसमें 3 बार वो 5 विकेट  के क्‍लब में शामिल हुए.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here