सुशांत सिंह राजपूत केस में ‘दिमाग’ का भी पोस्‍टमार्टम करेगी सीबीआई: सूत्र | mumbai – News in Hindi

0
12
सुशांत सिंह राजपूत केस में

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच कर रही है सीबीआई.

सीबीआई सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput case) के मिजाज, व्यवहार के पैटर्न और यहां तक ​​कि व्यक्तिगत पहचान के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए भी जांच करेगी.

नई दिल्‍ली. सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant Singh Rajput case) में सीबीआई (CBI) की जांच आगे बढ़ती जा रही है. अब सूत्रों का कहना है कि सीबीआई सुशांत सिंह राजपूत की मनोवैज्ञानिक अटॉप्‍सी भी करने की तैयारी में है. केंद्रीय जांच एजेंसी के सीएफएसएल (केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला) द्वारा किए जाने वाले इस विश्‍लेषण में राजपूत के जीवन के हर पहलू का विस्तृत अध्ययन शामिल होगा. इसमें सोशल मीडिया पर पोस्ट से लेकर व्हाट्सएप चैट और परिवारों, दोस्तों और अन्य लोगों के साथ बातचीत भी होगी.

सीबीआई सुशांत सिंह राजपूत के मिजाज, व्यवहार के पैटर्न और यहां तक ​​कि व्यक्तिगत पहचान के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए भी जांच करेगी. दरअसल सीबीआई सुशांत की मनोवैज्ञानिक स्थिति की तस्‍वीर बनाना चाहती है, जिससे उनकी मौत के कारणों तक पहुंचा जा सके. यह केवल तीसरी बार होगा कि इस तरह की एक जटिल जांच शैली को आजमाया जाएगा. इससे पहले ये दो मामलों में हुआ था. पहला सुनंदा पुष्कर मामले में और दूसरी बार दो साल पहले दिल्ली के बुराड़ी में हुए सामूहिक आत्महत्या मामले में.

इस बीच, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) की चार सदस्यीय टीम फोरेंसिक टीम राजपूत की ऑटोप्सी रिपोर्ट की जांच करेगी. इसके लिए सीबीआई ने मामले में मदद के लिए अस्पताल से संपर्क किया था. सीबीआई की एक विशेष टीम ने पिछले सप्ताह सुप्रीम कोर्ट द्वारा मामले को संभालने के आदेश के बाद शुक्रवार से मुंबई में डेरा डाल दिया है. टीम को एजेंसी की दरार की जांच इकाई से लिया गया है – वही जो विजय माल्या के मामले को देख रही है.

वहीं सीबीआई अधिकारियों ने रविवार को सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी और कुक नीरज सिंह व घरेलू सहायक दीपेश सावंत से यहां डीआरडीओ अतिथि गृह में अभिनेता की मौत के सिलसिले में पूछताछ की थी. एक अधिकारी ने बताया था कि जांच दल के अधिकारी बाद में इन लोगों के साथ बांद्रा में अभिनेता के फ्लैट पर भी गए थे.सांताक्रूज के कलीना इलाके में स्थित डीआरडीओ अतिथि गृह में पिठानी, नीरज और सावंत अलग-अलग पहुंचे थे. केंद्रीय जांच दल के अधिकारी यहीं ठहरे हुए हैं. उन्होंने कहा कि 14 जून को जब राजपूत (34) अपने कमरे में फंदे से झूलते पाए गए थे तब वे घर में मौजूद थे. इन तीनों से सीबीआई अधिकारियों ने करीब पांच घंटे तक पूछताछ की और बाद में करीब पौने तीन बजे वह इन लोगों को अपने साथ लेकर उपनगरीय बांद्रा के मों ब्लां अपार्टमेंट स्थित दिवंगत अभिनेता के घर गए.

अधिकारी ने बताया कि सीबीआई जांच दल के साथ फोरेंसिक अधिकारियों ने भी राजपूत के घर का मुआयना किया. उन्होंने कहा कि अभिनेता के घर पर मुंबई पुलिस के अधिकारी भी मौजूद थे. अधिकारी ने बताया कि सुशांत के फ्लैट पर करीब तीन घंटे रहने के बाद सीबीआई की टीम पिठानी, नीरज और सावंत के साथ वापस चली गई. इसके बाद तीनों को शाम को दोबारा डीआरडीओ के गेस्ट हाउस पूछताछ के लिए ले जाया गया.

शनिवार को भी सीबीआई का दल पिठानी, नीरज और सावंत के साथ राजपूत के मृत मिलने से पहले के घटनाक्रम की कड़ियों को जोड़ने के लिये अभिनेता के बांद्रा स्थित घर पहुंचा था. सीबीआई के एक अन्य दल ने शनिवार को सरकारी कूपर अस्पताल का भी दौरा किया था जहां राजपूत के शव का पोस्टमार्टम हुआ था.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here