ये है दुनिया की सबसे तेज इंटरनेट स्पीड, 1 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी Netflix की पूरी लाइब्रेरी | tech – News in Hindi

0
18
ये है दुनिया की सबसे तेज इंटरनेट स्पीड, 1 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी Netflix की पूरी लाइब्रेरी

नई दिल्ली. एक तरफ आप अपने स्मार्टफोन या टीवी पर HD वीडियो देखने के लिए इंटरनेट स्पीड को लेकर जूझते हैं, वहीं दूसरी तरफ यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंडन सबसे तेज इंटरनेट स्पीड के लिए वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम कर चुका है. हाल ही में डेवलप किए गए इस इंटरनेट टेक्नोलॉजी की मदद से आप 178 टेराबिट्स प्रति सेकेंड की स्पीड से डाउनलोड (Fastest Internet Speed) कर सकते हैं. यह स्पीड 1,78,000 Gbps की स्पीड के बराबर है. इसके पहले दुनिया में सबसे तेज इंटरनेट स्पीड का रिकॉर्ड 172 टेराबिट्स प्रति सेकेंड था, जिसे जापान के नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कम्युनिकेशंस टेक्नोलॉजी ने बनाया था.

1 सेकेंड से भी कम डाउनलोड कर लेंगे नेटफ्लिक्स की पूरी लाइब्रेरी
अगर आप यह नहीं समझ पा रहे कि 178 टेराबिट्स प्रति सेकेंड की स्पीड ​कितनी तेज है तो हम आपको बता दें कि इस स्पीड के साथ आप Netflix की पूरी लाइब्रेरी एक सेकेंड से भी कम समय में डाउनलोड कर सकेंगे. दुनिया की पहली ब्लैक होल इमेज (Balck Hole Image Data) तैयार करने के लिए जितने डेटा को एक साथ जुटाया गया, उस डेटा को इस स्पीड के जरिए एक घंटे से भी कम समय में डाउनलोड किया जा सकता है. एमआईटी ऑब्जरवेटरी में इस डेटा को आधे टन के एक हार्ड डिस्क में स्टोर किया गया है.

किस तकनीक से इस स्पीड तक पहुंचे?बिजली की रफ्तार जैसी तेज इस स्पीड के लिए लंडन के रिसर्चर्स ने ऑप्टिकल फाइबर्स (Optical Fiber) में इस्तेमाल होने वाले वेवलेंथ की तुलना में कहीं ज्यादा वाइड वेवलेंथ का ​इस्तेमाल किया है. इस टीम ने 16.8 टेराहार्ट्ज(THz) के वेवलेंथ का इस्तेमाल किया. कुछ चुनिंदा मार्केट्स के लिए यह वेवलेंथ 9THz का होता है. जिस वेवलेंथ की मदद से आप इंटरनेट चलाते हैं, उसकी बैंडविड्थ केवल 4.5THz की ही होती है.

यह भी पढ़ें: WhatsApp में आ रहा है बहुत काम का फीचर, बचेगी आपके फोन की Storage

तेजी से बढ़ रहा इंटरनेट ट्रैफिक
यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंडन (University College of London) के लेक्चरर और इसके लीड ऑथर डॉक्टर गैलडिनो (Dr. Galdino) का मानना है कि मौजूदा कोविड-19 संकट में इंटरनेट ट्रैफिक में कई गुना ज्यादा की ​वृद्धि हुई है. उन्होंने कहा, ‘लेकिन कोविड-19 संकट से अलग देखें तो बीते 10 साल में इंटरनेट ट्रैफिक अभू​तपूर्व रूप से बढ़ा है. डेटा डिमांड की वजह से प्रति बिट्स कॉस्ट में भारी कमी आई है.’ डॉ. गैलडिनो  रॉयल एकेडेमी ऑफ इंजीनियरिंग रिसर्च के भी सदस्य हैं.

गैलडिनो ने कहा, ‘कम कॉस्ट वाले डेटा के ट्रेंड को मेंटेन करने के लिए नई टेक्नोलॉजी में लगातार डेवलपमेंट होना बेहद जरूरी है क्योंकि आगे भी डेटा की मांग बढ़ती ही रहेगी.’

दमदार के साथ किफायती भी
ऐसा नहीं की इतनी दमदार स्पीड की कीमत बहुत ज्यादा है. इस खास तरीक और तकनीक के इस्तेमाल की वजह से कीमत के मामले में यह किफायती है. एक सबसे तेज इंटरनेट स्पीड, 1 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी Netflix की पूरी लाइब्रेरी ऑप्टिकल फाइबर इंस्टॉल करने के लिए ​जो किमत खर्च करनी होती है, उसकी तुलना में यह करीब 20 हजार डॉलर ही महंगी है. अमूमन ऑप्टिकल फाइबर इंस्टॉल करने में 5,89,000 डॉलर की जरूरत पड़ती है.

यह भी पढ़ें: 9 हज़ार से भी कम कीमत वाले Realme C12 की पहली सेल आज, मिलेगी 6000mAh की बैटरी

हालांकि, इस स्तर की जबरदस्त स्पीड वाला इंटरनेट प्राप्त करना अभी भी एक सपना है क्योंकि यह एक एक्सपेरिमेंट टेक्नोलॉजी ही है. निकट भविष्य में इसे कॉमर्शियल तौर पर इस्तेमाल करने नहीं किया जा सकेगा.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here