कोरोना संकट के बीच दोबारा चलने के लिए दिल्ली मेट्रो तैयार, सरकार की मंजूरी का इंतजार | nation – News in Hindi

0
13
कोरोना संकट के बीच दोबारा चलने के लिए  दिल्ली मेट्रो तैयार, सरकार की मंजूरी का इंतजार

फोटो साभारः AP

DMRC Set to Resume Delhi Metro Services : डीएमआरसी से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार से मैंने अपील की है कि आप दिल्ली को देश से अलग रखिए, क्योंकि यहां पर कोरोना नियंत्रण में है. केंद्र देश के अन्य हिस्सों में मेट्रो मत चलाने की इजाजत न दें, लेकिन दिल्ली में इसकी इजाजत दी जाए.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    August 23, 2020, 10:05 PM IST

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली की लाइफलाइन कही जाने वाली मेट्रो (Delhi Metro) पटरी पर फिर से दौड़ने के लिए तैयार है. रविवार को दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) की तरफ से कहा गया है कि केंद्र सरकार जब भी निर्देश देगी हम मेट्रो ट्रेन का संचालन शुरू कर देंगे. डीएमआरसी की ओर से जारी किए गए बयान में यह भी कहा गया है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने के लिए मेट्रो प्रशासन (DMRC) पूरी तरह से तैयार है.

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक डीएमआरसी के अधिकारी ने कहा, मेट्रो में यात्रियों की यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए सभी तरह के प्रयास किए जाएंगे. डीएमआरसी के कार्यकारी निदेशक का यह बयान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि हमने केंद्र सरकार से ट्रायल बेसिस पर दिल्ली मेट्रो की सेवा शुरू करने की अपील की है.

केजरीवाल ने की केंद्र सरकार से की मांग
दिल्ली की मौजूदा स्थिति को देखते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवालने केंद्र सरकार को मेट्रो सेवाओं को ट्रायल बेसिस पर शुरू करने की मांग की है. रविवार को केजरीवाल ने कहा, देश के अन्य हिस्सों में बेशक आप मेट्रो चलाने की अनुमति मत दीजिए, लेकिन दिल्ली को इससे अलग रखिए. दिल्ली में कोरोना नियंत्रण में हैं इसलिए यहां पर मेट्रो चलाने की परमिशन दी जानी चाहिए.लॉकडाउन के बाद से ही बंद है मेट्रो सर्विस

बता दें कि देश में कोरोना वायरस के कारण लगाए गए लॉकडाउन के बाद से ही दिल्ली मेट्रो की सर्विस बंद है. मेट्रो का संचालन न होने से DMRC को करोड़ों को नुकसान हो रहा है. इतना ही नहीं कोरोना की वजह से मेट्रो के कई प्रोजेक्ट को पूरा करने में भी देरी हो रही है. एक अनुमान के अनुसार लॉकडाउन के बाद DMRC को रोजाना करीब 9.3 करोड़ का नुकसान हो रहा है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here