सुशांत केस की जांच CBI करेगी या मुंबई पुलिस, रिया की अर्जी पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला | mumbai – News in Hindi

0
12
सुशांत सिंह राजपूत केस: पूर्व प्रबंधक का दावा, स्टाफ के सदस्यों ने किया एक्टर का मर्डर

सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच को लेकर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आएगा

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) बुधवार को फैसला सुनाएगा. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि सुशांत की मौत की जांच सीबीआई (CBI) करेगी या मुंबई पुलिस (Mumbai Police).

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    August 19, 2020, 12:14 AM IST

नई दिल्ली. फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) बुधवार को फैसला सुनाएगा. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि सुशांत की मौत की जांच सीबीआई (CBI) करेगी या मुंबई पुलिस (Mumbai Police). बिहार सरकार (Bihar Government) पटना में दर्ज एफआईआर (FIR) को सीबीआई को सौंप चुकी है. जबकि, महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government)  सीबीआई को जांच सौंपे जाने का विरोध कर रही है.

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच कौन करेगा?
महाराष्ट्र सरकार की दलील है कि मुंबई पुलिस ही मामले की जांच करे जो इस मामले में 56 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है. मुंबई पुलिस यह भी तर्क दे रही है कि यह पूरा मामला मुंबई पुलिस के अधिकार क्षेत्र का है, कयोंकि घटना मुंबई में हुई है. सुशांत के पिता ने एफआईआर पटना में दर्ज कराई थी, लेकिन बाद में वह मामला सीबीआई को सौंपने की मांग कर रहे हैं. दूसरी तरफ आरोपी रिया चक्रवर्ती ने कहा है कि मामले की जांच मुंबई पुलिस को करना चाहिए. इसलिए पटना के एफआईआर को मुंबई ट्रांसफर करना चाहिए.

मुंबई पुलिस या सीबीआईकल होने वाली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ये तय करेगा की सुशांत की मौत की जाँच सीबीआई करेगी या मुंबई पुलिस ? यानी कल इस मामले की तफ्तीश के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण हो सकता है. कोर्ट  अगर सीबीआई जांच की अनुमति प्रदान कर देता है तो आने वाले वक्त में सीबीआई द्वारा काफी महत्वपूर्ण कार्रवाई देखने को मिल सकती है.

बिहार पुलिस ने पटना में दर्ज की थी FIR
सीबीआई सूत्रों के मुताबिक जैसे ही औपचारिक तौर पर सुप्रीम कोर्ट से इस मसले की जांच करने का निर्देश जारी होगा. उसके बाद एक सप्ताह के अंदर ही महत्वपूर्ण एक्शन शुरू हो जाएगा. हालांकि सीबीआई जांच के लिए पहले ही गृह मंत्रालय के मार्फत डीओपीटी सीबीआई जांच की अनुशंसा करके मोहर लगा चुकी है.

सीबीआई ने दर्ज किया था ये मामला
बिहार सरकार पहले ही पटना में दर्ज एफ़आइआर की जाँच सीबीआई को सौंप चुकी है जबकि महाराष्ट्र सरकार सीबीआई को जांच सौंपे जाने का विरोध कर रही है। महाराष्ट्र सरकार की कोर्ट में ये दलील है कि मुंबई पुलिस ही मामले की जाँच करें जो इस मामले में 56 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है और यह पूरा मामला मुंबई पुलिस के अधिकार क्षेत्र का है क्योंकि घटना मुंबई में हुई है और पीड़ित व आरोपी और गवाह, सभी मुंबई के हैं.

सुशांत के पिता ने एफ़आइआर पटना में दर्ज कराई थी लेकिन बाद में वह मामला सीबीआई को सौंपने की मांग कर रहे हैं. वहीं सुप्रीम कोर्ट में दाखिल जवाब में आरोपी रिया चक्रवर्ती ने कहा है कि मामले की जांच सीबीआई को सौंपने पर उसे कोई आपत्ति नहीं है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here