फेसबुक विवाद: BJP और कांग्रेस दोनों के नेताओं ने एक दूसरे के खिलाफ किया विशेषाधिकार हनन का दावा | nation – News in Hindi

0
14
BJP के नेता के ट्वीट पर उठे सवाल, थरूर ने पूछा- रामचरितमानस का कौन-सा भाग सीखा है?

सूचना प्रौद्योगिकी (IT) मामलों की संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष शशि थरूर ने फेसबुक से जवाब मांगा था (फाइल फोटो)

ट्विटर (Twitter) पर यह जंग तब शुरू हुई जब तृणमूल कांग्रेस (TMC) की सांसद महुआ मोइत्रा ने समिति के सामने फेसबुक (Facebook) को तलब करने के थरूर के कदम की आलोचना करने वाले एक भाजपा सांसद पर हमला बोला. थरूर ने मोइत्रा के ट्वीट (Tweet) में जोड़ते हुए कहा, ‘भाजपा (BJP) लगातार समिति की शक्तियों को कम कर रही है.’

(पायल मेहता)

नई दिल्ली. भाजपा और कांग्रेस (BJP and Congress) के बीच फेसबुक विवाद (Facebook issue) गर्मागर्म बहस का मुद्दा बना हुआ है. खासकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Congress MP Shashi Tharoor) की अध्यक्षता वाली सूचना और प्रौद्योगिकी विभाग की संबंधित स्थायी समिति में. जबकि थरूर ने बीजेपी लोकसभा सांसद निशिकांत दुबे (BJP Lok Sabha MP Nishikant Dubey) के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस भेजा है, वहीं निशिकांत ने भी थरूर के साथ-साथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के खिलाफ भी विशेषाधिकार हनन नोटिस (breach of privilege motion notice) भेज दिया है.

ट्विटर (Twitter) पर यह जंग तब शुरू हुई जब तृणमूल कांग्रेस (TMC) की सांसद महुआ मोइत्रा ने समिति के सामने फेसबुक (Facebook) को तलब करने के थरूर के कदम की आलोचना करने वाले एक भाजपा सांसद पर हमला बोला. थरूर ने मोइत्रा के ट्वीट (Tweet) में जोड़ते हुए कहा, ‘भाजपा (BJP) लगातार समिति की शक्तियों को कम कर रही है और इसके अध्यक्ष के नियमों और भूमिका के बारे में भी बात कर रही है.’ दुबे ने दोनों पर कमेटी के नियमों (rules) की याद दिलाते हुए हमला बोला और कहा कि थरूर ने अपनी पार्टी के राजनीतिक एजेंडे (political agenda) को कमेटी की प्राथमिकता बना दिया है.

थरूर और निशिकांत दुबे ने दायर किया विशेषाधिकार हनन का नोटिससूत्रों ने बताया है कि थरूर ने मंगलवार को झारखंड से भाजपा सांसद के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस दायर किया था. इसके बाद, निशिकांत ने थरूर और गांधी दोनों के खिलाफ बीजेपी पर एक पक्ष के तौर पर ट्विटर पर आक्षेप करने के लिए विशेषाधिकार हनन नोटिस की जानकारी देने के लिए ट्विटर का सहारा लिया था.

न्यूज 18 ने दुबे का विशेषाधिकार उल्लंघन का जो पत्र निकाला है. उसमें लिखा है: “मैं भी सूचना प्रौद्योगिकी समिति का सदस्य हूं, इस तथ्य को रिकॉर्ड पर लाना चाहता हूं कि डॉ. शशि थरूर ने सूचना प्रौद्योगिकी की संसदीय समिति की किसी भी बैठक में फेसबुक और / या वॉट्सऐप को तलब किए जाने के एजेंडे की बात सामने नहीं रखी है.” इसलिए यह सूचना प्रौद्योगिकी विभाग से संबंधित स्थायी समिति के माननीय अध्यक्ष की क्षमता में शशि थरूर की ओर से विशेषाधिकार हनन का एक स्पष्ट मामला है.”

राहुल गांधी को भी विशेषाधिकार हनन का नोटिस
दुबे ने यह भी लिखा, “मैं निश्चित रूप से इस मुद्दे को देखूंगा और समिति [सूचना प्रौद्योगिकी पर विभागीय रूप से संबंधित स्थायी समिति के संदर्भ में] फेसबुक के विचारों को मांगेगी.” यह भी व्यापक रूप से बताया गया है कि थरूर ने सूचना प्रौद्योगिकी पर विभागीय संबंधित स्थायी समिति के सचिवालय को निर्देश दिया है.

यह भी पढ़ें: राजनाथ बोले- हर चुनौती का माकूल जवाब देने के लिए नौसेना की तैयारियों पर भरोसा

दुबे का नोटिस लोकसभा सांसद राहुल गांधी की ओर से विशेषाधिकार हनन किये जाने का भी उल्लेख करता है, जिन्होंने ट्वीट किया था कि “भारत में भाजपा और आरएसएस फेसबुक और वॉट्सऐप को नियंत्रित करते हैं, वे फर्जी समाचार फैलाते हैं और पूरी तरह से नफरत करते हैं और इसका इस्तेमाल मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए करते हैं.”

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here