दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन स्टारर फिल्म ‘शक्ति’ के रीमेक की तैयारी कर रहे श्री नारायण सिंह | bollywood – News in Hindi

0
12
दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन स्टारर फिल्म

शक्ति के रीमेक बनाने की तैयारी कर रहे श्री नारायण सिंह.

डायरेक्टर रमेश सिप्पी (Ramesh Sippy) के एक्शन-क्राइम ड्रामा ‘शक्ति (Shakti)’ के रीमेक की योजना कई बार पहले भी बनाई, लेकिन योजनाएं कभी भी सफल नहीं हुईं.

मुंबई. 38 साल बाद, दिलीप कुमार (Dilip Kumar) और अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) स्टारर शक्ति का रीमेक बनने की तैयारी शुरू हो गई है. कथित तौर पर, डायरेक्टर रमेश सिप्पी के एक्शन-क्राइम ड्रामा के रीमेक की योजना पहले भी बनाई जा रही थी, जिसमें अमिताभ को पिता का रोल करना था और उनके वास्तविक जीवन के बेटे अभिषेक बच्चन को विद्रोही बेटे की भूमिका निभानी थी, लेकिन योजनाएं कभी भी सफल नहीं हुईं. अब श्री नारायण सिंह इस प्रतिष्ठित फिल्म के रीमेक पर काम कर रहे हैं.

फिल्म के रीमेक की पुष्टि करते हुए फिल्म निर्माता ने मुंबई मिरर को बताया, ‘मैं पिछले दो वर्षों से अंजुम राजाबली और सौम्या जोशी के साथ फिल्म की पटकथा पर काम कर रहा था. यह एक बड़ी जिम्मेदारी है, यही वजह है कि हम स्क्रिप्ट को अंतिम रूप देने के लिए समय ले रहे हैं, भले ही हमारा रीमेक की तुलना में अनुकूलन अधिक है. अगले साल तक फिल्म को फ्लोर पर ले जाने का विचार है.’ श्री नारायण अक्षय कुमार-स्टारर ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ और शाहिद कपूर-श्रद्धा कपूर की ‘बत्ती गुल-मीटर चालु’ के लिए जाने जाते हैं.

शक्ति एकमात्र ऐसी फिल्म थी जिसमें दिलीप और अमिताभ एक साथ थे; दोनों ने क्रमश: पिता और पुत्र की भूमिका निभाई. इस फिल्म में पिता और पुत्र के बीच लड़ाई की कहानी को दिखाया गया है जो उनके सिद्धांतों में अंतर के कारण शुरू हुई है. इसमें दिलीप कुमार ने एक पुलिस वाले की भूमिका निभाई है, अमिताभ अपने पिता की ड्यूटी के प्रति निष्ठा से घृणा करता है क्योंकि इसी कारण वे परिवार के प्रति लापरवाह रहते हैं. पिता के प्रति नफरत के कारण वह जीवन में अपराध के रास्ते पर चला जाता है.

शक्ति को चार फिल्मफेयर पुरस्कार मिले, जिनमें सर्वश्रेष्ठ फिल्म, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (दिलीप कुमार), 1982 में सर्वश्रेष्ठ संपादन और सर्वश्रेष्ठ पटकथा के पुरस्कार शामिल हैं. राखी ने फिल्म में अमिताभ की मां का रोल निभाया था. इस फिल्म में अमरीश पुरी, स्मिता पाटिल और कुलभूषण खरबंदा भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में थे.फिल्मों और विषयों की अपनी पसंद के बारे में, श्री नारायण ने हाल ही में कहा था, ‘मैं यूपी के एक छोटे शहर बलरामपुर से आता हूं. वहां पास में एक छोटा सा गांव हैं, जिसे महादेव कहा जाता है, मैं वहीं पैदा हुआ था. मैंने स्वच्छता, बिजली आदि मुद्दों को फेस किया है. क्योंकि मैंने जीवन में वास्तविक मुद्दों का सामना किया है इसलिए मैं उनके साथ जुड़ाव महसूस करता हूं.’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here