कोरोना वैक्सीन के लिए जान खतरे में डालने के लिए तैयार हैं 22 साल की साइंटिस्ट | women-special – News in Hindi

0
13
कोरोना वैक्सीन के लिए जान खतरे में डालने के लिए तैयार हैं 22 साल की साइंटिस्ट

फोटो साभारः फेसबुक/ Sophie Rose

COVID-19 vaccine: कोरोना वैक्सीन की रिसर्च में तेजी लाने के लिए 22 साल की महिला साइंटिस्ट ने 1DaySooner कैंपेन शुरू किया है. इसके जरिए वो दुनिया के लोगों से कोरोना की वैक्सीन तैयार करने के लिए ह्यूमन चैलेंज ट्रायल शुरू किया जाए इसकी अपील कर रही हैं.

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के लिए रूस ने वैक्सीन (Vaccine) तैयार कर ली है. हालांकि रूस के दावे के बाद भी कुछ देश वैक्सीन का ट्रायल कर रहे हैं. इसी बीच 22 साल की एक महिला साइंटिस्ट (Aussie scientist) ने कहा है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन पर रिसर्च के लिए वह खुद कोरोना संक्रमित होने के लिए तैयार हैं. महिला साइंटिस्ट का नाम सोफी है और वो ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन की रहने वाली हैं.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक सोफी ने कहा कि वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस का इलाज खोजने के लिए वो अपनी मौत का छोटा सा खतरा उठा सकती हैं. उन्होंने कहा कि वायरस की एक वैक्सीन के मिलने से दुनियाभर के लाखों लोगों की लाइफ को बचाया जा सकता है. इसके लिए वो अपनी जान जोखिम में डाल ही सकती हैं. वैक्सीन रिसर्च में तेजी आए इसके लिए सोफी ने 1DaySooner नाम का कैंपेन शुरू किया है. इस कैंपन के जरिए सोफी दुनियाभर के लोगों से अपील कर रही हैं कि कोरोना की वैक्सीन तैयार करने के लिए ह्यूमन चैलेंज ट्रायल शुरू किया जाए.

लाखों लोगों को होगा इसका फायदाः सोफी
सोफी ने कहा, ‘एक दिन वह सोच रही थीं कि वह अपने बेस्ट फ्रेंड को किडनी डोनेट कर देंगी, लेकिन फिर ख्याल आया कि अगर वह कोरोना के ह्यूमन चैलेंज ट्रायल में शामिल होती हैं तो लाखों लोगों को इसका फायदा होगा.’बीमारी से आर्थिक बर्बादी

सोफी का कहना है कि कोरोना का असर सारी दुनिया में हो रहा है. इसके कारण आर्थिक बर्बादी हो रही, लाखों लोग मर रहे हैं. ऐसे में अगर वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल से ये पता चलता है कि ये सिर्फ युवाओं के लिए प्रभावी होगी, तभी सबको फायदा होगा. उन्होंने कहा कि वैक्सीन तैयार होने के बाद वैश्विक स्तर पर युवा दोबारा से काम पर जा सकेंगे और आर्थिक व्यवस्था अच्छी होगी.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here