China’s green development experience is learnable: UN official | चीन के हरित विकास वाला अनुभव सीखने योग्य है: यूएन अधिकारी

0
10


बीजिंग, 15 अगस्त (आईएएनएस)। 15 अगस्त, 2005 को तत्कालीन चच्यांग प्रांत के शीर्ष नेता के रूप में शी चिनफिंग ने आनची काउंटी के य्वीत्सुन गांव का निरीक्षण दौरा किया। उन्होंने पहली बार स्वच्छ जल और हरे-भरे पहाड़ अमूल्य संपत्ति हैं वाला विचार पेश किया। इसके बाद से, पारिस्थितिक सभ्यता वाला विचार पूरे चीन में लागू किया जाता है। इधर के सालों में चीन हरा और उच्च गुणवत्ता वाले विकास रास्ते पर आगे बढ़ रहा है, चीन को अंतरराष्ट्रीय समुदाय की उच्च प्रशंसा मिली।

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यालय (यूएनईपी) की उप कार्यकारी प्रधान जोर्से म्सुया ने कहा कि चीन का अनुभव विकासशील देशों के लिए सीखने योग्य है।

म्सुया ने चीन में चार साल बिताये हैं। उन्होंने कहा कि चीन के पारिस्थितिक सभ्यता वाले निर्माण ने उन पर गहरी छाप छोड़ी है। साल 2011 से 2014 में वे पेइचिंग में रहती थी, इसी दौरान वे पीएम 2.5 मुद्दे के निपटारा में चीन सरकार की नेतृत्वकारी भूमिका की साक्षी बनी और चीन द्वारा प्राप्त उत्कृष्ट उपलब्धियों को देखा।

वहीं, यूएनईपी की कार्यकारी प्रधान इंगर एंडरसन ने कहा कि चीन ने पारिस्थितिकी सभ्यता के निर्माण को राष्ट्रीय विकास का प्रमुख लक्ष्य बनाया, जो मानव और प्रकृति के संतुलित विकास के लिए मददगार सिद्ध होगा। पारिस्थितिकी संरक्षण में चीन का प्रयास प्रशंसनीय है।

जानकारी के अनुसार, पारिस्थितिक सभ्यता के निर्माण को आगे बढ़ाने के लिए चीन ने क्रमश: 40 से अधिक सुधार प्रस्ताव पेश किए। पर्यावरण संरक्षण कानून, पर्यावरण संरक्षण कर कानून, वायु प्रदूषण-रोधी कानून, जल प्रदूषण-रोधी कानून और मिट्टी प्रदूषण-रोधी कानून आदि कानून दिन-ब-दिन संपूर्ण होने लगा।

यूएनईपी की उप कार्यकारी प्रधान म्सुया के विचार में चीन कारगर प्रणाली स्थापित करने, नागरिकों को पर्यावरण संरक्षण विचार का प्रसार करने आदि बहु-तरीके से एक हरित और उच्च गुणवत्ता वाले विकास रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। पर्यावरण निपटारे पहलू में चीन का अनुभव विकासशील देशों के लिए सीखने लायक है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here