गुजरात में बारिश: गृह मंत्री शाह ने मुख्यमंत्री से बातचीत की, मदद का भरोसा दिया | nation – News in Hindi

0
15
गुजरात में बारिश: गृह मंत्री शाह ने मुख्यमंत्री से बातचीत की, मदद का भरोसा दिया

भारी बारिश को लेकर अमित शाह ने गुजरात के मुख्‍यमंत्री से की बात.

गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने ट्वीट किया, ‘गुजरात (Gujarat) के कुछ जिलों में भारी वर्षा के कारण हुए जलभराव के विषय में प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (Chief Minister Vijay Rupani) और मुख्य सचिव से बात कर केंद्र से हर सम्भव मदद सुनिश्चित की.’

नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने गुजरात (Gujarat) के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (CM Vijay Rupani) से बात की और राज्य में भारी बारिश (Heavy Rain) और जलभराव से उत्पन्न स्थिति का जायजा लिया. उन्होंने कहा कि राज्य में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की 14 टीमों को अलर्ट पर रखा गया है और जरूरत पड़ने पर और टीम भेजी जाएंगी. शाह ने ट्वीट किया, ‘गुजरात के कुछ जिलों में भारी वर्षा के कारण हुए जलभराव के विषय में प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और मुख्य सचिव से बात कर केंद्र से हर सम्भव मदद सुनिश्चित की.’

उन्होंने कहा, ‘प्रदेश में एनडीआरएफ की 14 टीमों को अलर्ट पर रखा गया है तथा जरुरत पढ़ने पर और टीम भी तुरंत भेजी जायेंगी.’ उल्लेखनीय है कि गुजरात के कई हिस्सों में शुक्रवार को भारी बारिश हुई. क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के अनुसार अगले कुछ दिनों तक बारिश जारी रहने का अनुमान है. गुजरात सरकार ने एक बयान में कहा कि पिछले दो दिनों में राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण 12 राज्य राजमार्गों सहित कम से कम 225 सड़कों को बंद कर दिया गया.

गुजरात में भारी बारिश के बीच एनडीआरएफ की 13 टीमें तैनात
गुजरात में भारी बारिश के चलते कई हिस्सों में जलजमाव के बाद शुक्रवार को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 13 टीमें तैनात की गई हैं. मौसम विभाग ने बारिश का यह सिलसिला अभी अगले कुछ दिन तक जारी रहने का अनुमान जताया है. गुजरात सरकार ने शुक्रवार को एक बयान में बताया कि राज्य के कई हिस्सों में पिछले दो दिनों में भारी बारिश के बाद 12 राज्यमार्ग समेत कम से कम 225 सड़कें बंद हैं. अतिरिक्त मुख्य सचिव (राजस्व) पंकज कुमार ने कहा, ‘‘ हमने राज्य के भीतर भारी बारिश को देखते हुए एनडीआरएफ की 13 टीमें तैनात की हैं. जिला प्रशासन किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.’’कुमार ने बताया कि मंगलवार रात में एनडीआरएफ और मोर्बी जिला प्रशासन ने जिले के अमरान गांव के निकट से छह ग्रामीणों को बचाया. ये मौसमी बारिश की वजह से पक्के नदीपथ पर फंस गए थे. राज्य की कई नदियां उफान पर हैं. सुबह से हो रही बारिश की वजह से सूरत शहर और उसके आस-पास के कई रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है. एक अधिकारी ने बताया कि सूरत सिटी के पुणा गाम और पर्वत पाटिया जैसे निचले इलाकों में फंसे 100 लोगों को शुक्रवार को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार राज्य में सूरत जिले के सात तालुका में सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक सबसे ज्यादा बारिश हुई. सूरत जिले के मंगरोल तहसील में सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक 188 मिमी बारिश हुई.

सौराष्ट्र के गिर सोमनाथ, जूनागढ़ और जामनगर जिले और दक्षिणी गुजरात के भरूच, नर्मदा और तापी तथा मध्य गुजरात के छोटा उदयपुर और वडोदरा समेत कई इलाकों में भारी बारिश हुई. राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जयंत सरकार ने कहा, ‘‘गुजरात में आज तक कुल बारिश का 70 फीसदी बरस गया. वहीं एक सप्ताह पहले यह 40 फीसदी था. निम्न दबाव की वजह से पिछले 24 घंटे में बहुत बारिश हुई. अगले पांच दिनों में भी बहुत बारिश होने की संभावना है. राज्य के कई हिस्सों में शुक्रवार और शनिवार को भारी बारिश की संभावना है.’ उन्होंने कहा कि मछुआरों को खराब मौसम की वजह से समुद्र में नहीं जाने की हिदायत दी गई है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here