असम के नए क्षेत्रों में बाढ़ का पानी घुसा, चार जिलों में 29,000 से अधिक लोग प्रभावित | nation – News in Hindi

0
14
असम और बिहार में बाढ़ से हाहाकार, UP समेत इन राज्‍यों में 26 जुलाई से होगी भारी बारिश

बाढ़ की भीषण विभीषिका झेलने् वाले असम में अब पानी कम हो रहा है. (फाइल फोटो)

पिछले कुछ दिनों से असम बाढ़ (Assam Flood) का पानी कम हो रहा है और बृहस्पतिवार को केवल दो जिलों- धेमाजी और बक्सा में 11,000 से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित थे.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    August 15, 2020, 12:17 AM IST

गुवाहाटी. असम (Assam) में बाढ़ का पानी (Flood Water) शुक्रवार को नए इलाकों में प्रवेश कर गया, जिससे चार जिलों में 29,000 से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. आपदा से जुड़ी घटनाओं में दो और लोगों की जान चली गई. एक आधिकारिक बुलेटिन में यह जानकारी दी गई है. पिछले कुछ दिनों से बाढ़ का पानी कम हो रहा है और बृहस्पतिवार को केवल दो जिलों- धेमाजी और बक्सा में 11,000 से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित थे.

दो और जिलों में बाढ़ का प्रकोप
असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने अपने बुलेटिन में कहा कि लखीमपुर और विश्वनाथ जिले में भी अब बाढ़ आ चुकी है और आपदा से प्रभावित होने वालों की संख्या बढ़कर 29,603 हो गई. लखीमपुर जिले के नावबोइचा में दो लोगों की जान चली गई और इस साल राज्य भर में बाढ़ और भूस्खलन में मरने वाले लोगों की संख्या 138 हो गई. बाढ़ से संबंधित घटनाओं में 112 लोग मारे गए, जबकि 26 लोगों की मौत भूस्खलन में हो गई.

लखीमपुर जिला सबसे ज्यादा प्रभावितएएसडीएमए ने बताया कि लखीमपुर अब सबसे अधिक प्रभावित जिला है, जहां 23,591 लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. धेमाजी में प्रभावित लोगों की संख्या 5,662 है, इसके बाद बक्सा में 300 और विश्वनाथ में 50 लोग इसकी चपेट में हैं. कुल मिलाकर चार जिलों के 56 गांव जलमग्न हैं.

कई राज्यों में भारी बारिश से बिगड़े हालात
गौरतलब है कि असम में बाढ़ की वजह से हालात बिगड़े एक महीने से ज्यादा हो चुके हैं. बीते महीने बाढ़ से 30 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए. बिहार भी बाढ़ से जूझा है. इस वक्त भारत के कई राज्यों में भारी बारिश से हालात बिगड़ गए हैं. विशेष रूप से महाराष्ट्र में अत्यधिक वर्षा की वजह से बांध ओवरफ्लो कर रहे हैं. इसे देखते हुए पुणे के खड़गवासला बांध से पानी छोड़ना पड़ा है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here