ज्योतिरादित्य सिंधिया की पसंदीदा मंत्री इमरती देवी के CM शिवराज भी हुए फैन | bhopal – News in Hindi

0
3
ज्योतिरादित्य सिंधिया की पसंदीदा मंत्री इमरती देवी के CM शिवराज भी हुए फैन

शिवराज कैबिनेट में महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं इमरती देवी (फाइल तस्वीर)

सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh) ने महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) की कैबिनेट मीटिंग के दौरान जमकर तारीफ़ की, उन्होंने कहा अपने विभाग की समस्याओं को लेकर उनकी गंभीरता सराहनीय है. इमरती देवी ज्योतिरादित्य (Jyotiraditya Scindia) खेमे की विधायक और उनकी करीबी बताई जाती है.

भोपाल. मध्य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) में महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के बाद अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) की भी पसंदीदा मंत्री बन गई हैं. शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक से ठीक पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने मंत्रियों को संबोधित किया इस संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी की जमकर तारीफ की उन्होंने कहा कि मैंने विभागों की समीक्षा की तो महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने जो विभाग की कठिनाइयां बताई उससे समझ में आया कि वह बहुत गहराई तक अपने विभाग में काम कर रही हैं.

सीएम की मंत्रियों को दो टूक
दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कुछ वक्त पहले हुई कैबिनेट की बैठक (Cabinet Meeting) में अपने सभी मंत्रियों को यह ताकीद की थी कि वह जुलाई माह में अपने विभागों को अच्छे से समझ लें अगस्त के महीने में वह सभी विभागों की समीक्षा खुद करेंगे. इस समीक्षा के दौरान जब मुख्यमंत्री ने इमरती देवी से उनके विभाग के बारे में जानकारी ली तो वह उनसे बहुत प्रभावित हुए और कैबिनेट की बैठक में उनकी जमकर तारीफ की. इमरती देवी शिवराज कैबिनेट में सिंधिया कोटे की मंत्री हैं इससे पहले भी कमलनाथ सरकार में वह महिला एवं बाल विकास मंत्री के पद पर थीं. हालांकि इमरती देवी की शिक्षा को लेकर कई बार सवाल भी खड़े हुए हैं. सीएम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी मंत्रियों को अपने विभागों को लेकर सजग रहने की बात कही है उन्होंने कहा कि सभी मंत्री हर सोमवार को अपने विभाग की समीक्षा करें और उसके बारे में मीडिया को भी जानकारी दें. जिससे कि किए जा रहे प्रयास जनता तक पहुंचे. उन्होंने कहा प्रत्यक्ष रूप से जनता से नहीं जुड़ पाने पर मीडिया व सोशल मीडिया माध्यमों का भरपूर उपयोग करें.

वर्चुअल एक्टिव हों, मंत्रालय में भीड़ न होसीएम ने मंत्रियों से कहा कि ‘विभागों के कार्यक्रम वर्चुअल करें, मैं भी वर्चुअल कार्यक्रम करूंगा. लोकार्पण शिलान्यास की सूची आप लोग बनवाएं, मैंने भी यह सूची बनवाई है. सीएम ने मन्त्रियों से कहा कि आप जब भी एमएलए-एमपी से मिलें तो भीड़ इकट्ठी न होने दें. कोई भी एमएलए और एमपी वल्लभ भवन में भीड़ लेकर के न आए आपको यह आग्रह करना है. कोरोना वायरस को लेकर सावधानी जरूरी है.

आत्म निर्भर एमपी पर फोकस
सीएम ने कहा कि आत्म निर्भर एमपी के रोड मैप के लिए बने ग्रुप में आप सभी मंत्री किसी ना किसी ग्रुप में है आप जिस भी ग्रुप में हैं. उसकी मीटिंग तय कर आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के रोड मैप के लिए काम करना शुरू कर दें. देश भर के विशेषज्ञों ने नीति आयोग के सदस्यों ने हमें भरपूर सहयोग दिया है आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के रोडमैप के लिए बनाए गए चारों ग्रुप के लिए सुझाव मिले है, जनता से भी सुझाव मिल रहे हैं. उन्होंने कहा मंत्री बनना सौभाग्य की बात होती है, 8 करोड़ की जनसंख्या में हम 33-34 मंत्री है आपका एक-एक क्षण महत्वपूर्ण है. हर एक क्षण का उपयोग मध्य प्रदेश के विकास और जनता के कल्याण के लिए करें.

ये भी पढ़ें- MP by Election : कांग्रेस के लिए फिर उतरी बाबाओं की टोली, कम्प्यूटर और मिर्ची बाबा ने शुरू किया अभियान

आर्थिक मोर्चे पर लड़ेंगे
सीएम ने कहा कि हमें वित्तीय प्रबंधन की व्यवस्था करनी होगी पैसा नहीं है तो पैसा लाएंगे. तरीके निकाले जाएंगे. बजट के बाहर भी पैसे की व्यवस्था कैसे हो इसके लिए प्रयास किए जाएंगे.आप सभी जानते हैं कि वित्तीय नुकसान हुआ है रेवेन्यू कलेक्शन भी कम हुआ है लेकिन हम पैसे का रोना नहीं रोएंगे. वित्तीय प्रबंधन के लिए मैंने टीम बनाई है नीति आयोग से हम चर्चा करने के बाद आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का एक ड्राफ्ट प्रधानमंत्री जी को भी देंगे. आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का 3 साल का रोड मैप तैयार हो रहा है. तीन साल बाद जब हम जनता के बीच जाएं तो उन्हें बताएं कि हमने यह काम किए हैं.इसके लिए हमें मनोयोग से जुटना होगा.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here