इस गुमनाम बल्लेबाज ने खेली है आईपीएल की सबसे ‘शानदार’ पारी, धोनी भी देखते रह गए | cricket – News in Hindi

0
11
इस गुमनाम बल्लेबाज ने खेली है आईपीएल की सबसे

पॉल वलथाटी ने खेली थी आईपीएल की सबसे खास पारी!

मुंबई के बल्लेबाज पॉल वलथाटी (Paul Valthaty) ने आईपीएल में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी पारी खेली है, जो कि आज भी एक रिकॉर्ड है.

नई दिल्ली. टी20 क्रिकेट में एक से बढ़कर एक दिग्गज बल्लेबाज हैं. ऐसे बल्लेबाज तो मौका मिलते ही गेंद को बाउंड्री पार पहुंचा देते हैं. जो टी20 में भी शतकों का अंबार लगा देते हैं. लेकिन क्रिकेट में लक्ष्य का पीछा करते हुए शतक बनाना बहुत बड़ी बात होती है. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) इसीलिए इतने बड़े बल्लेबाज माने जाते हैं, क्योंकि लक्ष्य के पीछे उन्होंने कई ऐतिहासिक पारियां खेली हैं. ऐसी ही शतकीय पारियां आईपीएल में भी खेली गई हैं. आज हम आपको बताने वाले हैं लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी शतकीय पारी के बारे में, जो कि आईपीएल 2011 में खेली गई थी. ये शतकीय पारी विराट कोहली, डेविड वॉर्नर और क्रिस गेल जैसे दिग्गज बल्लेबाजों ने नहीं खेली थी. बल्कि ये पारी उस खिलाड़ी के बल्ले से निकली थी, जिसका आज आईपीएल ही नहीं फर्स्ट क्लास क्रिकेट में भी नामोनिशान नहीं दिखता. उस बल्लेबाज की पारी को देख धोनी भी दंग रह गए थे, क्योंकि वो शतक धोनी की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ ही निकला था.

जब आया था पॉल वलथाटी का तूफान
हम बात कर रहे हैं ओपनिंग बल्लेबाज पॉल वलथाटी (Paul Valthaty) की, जिन्होंने साल 2011 में हुए आईपीएल में धमाकेदार शतक ठोका था. बड़ी बात ये है कि वलथाटी का शतक लक्ष्य का पीछा करते हुए निकला था और ये सेंचुरी आज भी लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी पारी है. मोहाली के मैदान पर किंग्स इलेवन पंजाब के बल्लेबाज पॉल वलथाटी ने महज 63 गेंदों में नाबाद 120 रन ठोक दिए थे, जिसमें उन्होंने 19 चौके और 2 छक्के लगाए थे. 190 का स्ट्राइक रेट रखते हुए वलथाटी ने चेन्नई की ओर से मिले 189 रनों के लक्ष्य को भी बौना साबित कर दिया था.

पॉल वलथाटी (Paul Valthaty) के बाद लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी पारी खेलने के मामले में दूसरे नंबर पर वीरेंद्र सहवाग है, जिनके बल्ले से 119 रन निकले थे. वॉटसन ने नाबाद 117 रन बनाए हैं. जयसूर्या ने नाबाद 114 और जयवर्धने ने नाबाद 110 रनों की पारी खेली है. गिलक्रिस्ट और वॉर्नर ने भी लक्ष्य का पीछा करते हुए नाबाद 109 रनों की पारी खेली है. वहीं कोहली ने 108 नॉटआउट पारी खेली है.बड़े क्रिकेटर नहीं बन पाए वलथाटी

इसमें कोई दो राय नहीं कि वलथाटी (Paul Valthaty) के अंदर टैलेंट था. लेकिन उनका करियर उनके टैलेंट के अनुरूप नहीं चल पाया. वलथाटी ने महज 5 फर्स्ट क्लास मैच खेले. उन्हें सिर्फ 4 लिस्ट ए मैचों में खेलने का मौका मिला. टी20 में भी उन्होंने सिर्फ 34 ही मैच खेले. 2002 में इंडिया अंडर 19 टीम में सेलेक्ट हुए वाले वलथाटी ने 2009 में राजस्थान रॉयल्स टीम में जगह बनाई. इसके बाद 2011 से 2013 तक वो किंग्स इलेवन पंजाब के साथ रहे और उसके बाद उनका आईपीएल करियर थम गया. आज वलथाटी 36 साल के हैं और होमग्राउंड क्रिकेट एकेडमी चलाते हैं.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here