राजस्थान सियासी संकट टलने के बाद आज पहली बार अशोक गहलोत- सचिन पायलट होंगे आमने-सामने | jaipur – News in Hindi

0
12
राजस्थान सियासी संकट टलने के बाद आज पहली बार अशोक गहलोत- सचिन पायलट होंगे आमने-सामने

राजस्थान में सियासी संकट टल गया है और सचिन पायलट की वापसी हुई है (फाइल फोटो)

Rajasthan Crisis: सचिन पायलट ने अपनी वापसी से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की थी. जिसके बाद वे मंगलवार को जयपुर (Jaipur) लौट आये थे.

जयपुर. राजस्थान की सरकार पर संकट (Rajasthan Government Crisis) खत्म होने की घोषणा हुए तीन दिन हो चुके हैं. और अब गुरुवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की अपने खिलाफ मोर्चा खोलने वाले सचिन पायलट (Sachin Pilot) से मुलाकात होनी है. कांग्रेस विधायक दल की बैठक में गुरुवार को दोनों ही प्रतिद्वंदियों का आमना-सामना होने के आसार हैं. 14 अगस्त से शुरू होने वाले राजस्थान विधानसभा (Rajasthan Assembly) के विशेष सत्र से पहले इस बैठक का आयोजन किया गया है. करीब एक महीने तक चलने वाला राजस्थान का सियासी संकट (political crisis) सचिन पायलट की सरकार में वापसी के साथ ही शांत हो गया.

सचिन पायलट ने अपनी वापसी से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की थी. जिसके बाद वे मंगलवार को जयपुर (Jaipur) लौट आये थे. बताया गया कि कांग्रेस (Congress) आलाकमान ने उन्हें उनकी शिकायतें दूर करने का भरोसा दिलाया है. हालांकि मुख्यमंत्री उनके आगमन से बहुत प्रभावित नहीं दिखे और उनके जयपुर पहुंचते ही जैसलमेर (Jaisalmer) के लिए रवाना हो गये, जहां कांग्रेस के 100 विधायक रखे गये हैं.

मेरे साथ 100 से अधिक विधायकों का खड़े होना उल्लेखनीय: गहलोत
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेसी विधायकों के राजनीतिक टकराव से स्वाभाविक रूप से परेशान होने की बात कही थी. हालांकि उन्होंने हर किसी से इसके लिए आगे आने की अपील भी की थी. उन्होंने कहा था कि जो कुछ हुआ, उससे विधायक परेशान हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि उन्होंने विधायकों को समझाया है कि “कभी-कभी सहनशील होने की आवश्यकता होती है यदि हमें राष्ट्र, राज्य और लोगों की सेवा करनी है और लोकतंत्र को बचाना है.”यह भी पढ़ें: प्रणब मुखर्जी की हालत लगातार बनी हुई है नाजुक, वेंटिलेटर सपोर्ट पर- अस्पताल

उन्होंने कहा, “हमें गलतियां माफ करनी होंगी और लोकतंत्र की खातिर एकजुट होना होगा. मेरे साथ 100 से अधिक विधायक खड़े हुए हैं. यह अपने आप में उल्लेखनीय है.” बता दें कांग्रेस के विधायक आज जयपुर लौट आए हैं और सीधे फेयरमाउंट होटल पहुंचे. राजस्थान कांग्रेस में बगावत के वक्त भी ये विधायक इसी होटल में ठहरे थे. संभावना है कि विधायक शुक्रवार को विधानसभा सत्र तक यहीं रहेंगे.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here