सचिन पायलट की ‘घर वापसी’ से जितिन प्रसाद खुश! कहा- हम अपने साथी को साथ रखने में कामयाब | delhi-ncr – News in Hindi

0
13
सचिन पायलट की

सचिन पायलट ने सोमवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात की जिससे बाद उनकी कांग्रेस में पुनर्वापसी का रास्ता साफ हो सका (न्यूज़ 18 ग्राफिक्स)

जितिन प्रसाद (Jitin Prasada) ने कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान का हवाला देते हुए सोमवार देर शाम ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व और प्रियंका गांधी के प्रयासों के चलते आज हम अपने साथी सचिन पायलट (Sachin Pilot) को अपने साथ रखने में कामयाब रहे हैं

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    August 10, 2020, 11:11 PM IST

नई दिल्ली. कांग्रेस के नेता जितिन प्रसाद (Jitin Prasada) ने सचिन पायलट (Sachin Pilot) की घर वापसी के आसार को देखते हुए खुशी जताई है. सोमवार सुबह पायलट के दिल्ली में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी से मुलाकात के बाद राजस्थान में सियासी संकट (Rajasthan Political Crisis) के खत्म होने के आसार पर प्रसाद ने कहा कि हम अपने एक साथी को साथ रखने में सफल रहे.

उन्होंने कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान का हवाला देते हुए सोमवार देर शाम ट्वीट कर कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व और प्रियंका गांधी के प्रयासों के चलते आज हम अपने साथी सचिन पायलट को अपने साथ रखने में कामयाब रहे हैं.

जितिन प्रसाद ने कहा, ‘यह कांग्रेस की लोकतांत्रिक भावना है जहां विरोध और विमर्श के लिए गुंजाइश है.’

राजस्थान में अशोक गहलोत बनाम सचिन पायलट की लंबे समय से लड़ाई

बता दें कि राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ लंबे समय से बागी रुख अपनाने वाले पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट की कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात होने, और मामले के ‘उचित समाधान’ के लिए तीन सदस्यीय समिति के गठन का फैसला होने के बाद प्रदेश में सियासी संकट अब खत्म होता नजर आ रहा है.

पिछले कई हफ्तों से चल रही सियासी उठापठक के बीच पायलट ने राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की और उनके समक्ष विस्तारपूर्वक अपना पक्ष रखा.

इसके बाद कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित करने का फैसला किया जिससे कि पायलट और उनके समर्थक विधायकों द्वारा उठाए गए मुद्दों का निदान हो सके और मामले का उचित समाधान किया जा सके.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here