गोलीबारी की आड़ में पाकिस्तान की बड़ी साजिश, सीमा पर BAT दस्ते को घुसपैठ कराने की कोशिश | nation – News in Hindi

0
6
गोलीबारी की आड़ में पाकिस्तान की बड़ी साजिश, सीमा पर BAT दस्ते को घुसपैठ कराने की कोशिश

गोलीबारी की आड़ में पाकिस्तान बॉर्डर पर बैट दस्ते को घुसपैठ कराने की कोशिश (फाइल फोटो)

खुफिया दस्तावेजों के हवाले से ये खुलासा हुआ है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों ने बॉर्डर पर आतंकी कैंपों का दौरा किया और बैट (BAT) एक्शन टीम के साथ मीटिंग की. इस बैठक का मकसद था कि कैसे इस खामोश हमले को और धारदार बनाया जाए.

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के नौशेरा और उसके आसपास के इलाकों में पिछले कई दिनों से गोलीबारी हो रही है. उसकी एक बड़ी वजह अब सामने आई है. खुफिया एजेंसियों को पाकिस्तान (Pakistan) की साजिश का पता चला है. लगातार आतंकियों के सफाए से पाकिस्तान बौखला गया है और उसने अब जम्मू में एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय सीमा से बैट हमले की साजिश रची है. इस बाबत पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों ने अपनी सीमा से सटे इलाकों का दौरा भी किया है. बैट यानि बॉर्डर एक्शन टीम पाकिस्तान द्वारा तैयार की गई वह दुर्दांत यूनिट है जो रात को घात लगाकर भारतीय सुरक्षाबलों पर हमला कर उन्हें बड़ा नुकसान पहुंचाने की लगातार कोशिश करते रहते हैं.

खुफिया दस्तावेजों के हवाले से ये खुलासा हुआ है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों ने बॉर्डर पर आतंकी कैंपों का दौरा किया और बैट एक्शन टीम के साथ मीटिंग की. इस बैठक का मकसद था कि कैसे इस खामोश हमले को और धारदार बनाया जाए. सबसे ज्यादा हमले की आशंका नियंत्रण रेखा पर राजौरी, पुंछ और कुपवाड़ा के इलाकों में है. अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे इन इलाकों में जारी कृषि गतिविधियां की आड़ में भी बैट हमले की ये साजिश रची जा रही है. इन हमलों के लिए पाकिस्तानी सेना ने एसएसजी के कमांडों के साथ लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और अल-बदर के आतंकियों को शामिल किया है.

दरअसल, बैट हमले से पहले भी पाकिस्तान भारतीय सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाता रहा है. लेकिन उस वक्त सिर्फ चुनिंदा दस्ते ही होते थे. अब ये रणनीति बदल दी गई है. दस्तों की तादात बढ़ा दी गई है और इनको राजौरी से लेकर पुंछ तक तैनात कर दिया गया है. बस एक मौके तलाश में हैं.

> पिछले दो महीनों में बैट के कई दस्ते बनाए हैं.> प्रत्येक दस्ते में  तीन से चार आतंकी हैं. इस साजिश पर खुफिया एजेंसियों ने खास अलर्ट भी जारी किया है.

> कुछ हफ्ते पहले ही पाकिस्तानी सेना और आइएसआइ के छह अधिकारियों ने सांबा और अखनूर सेक्टर की कुछ खास चौकियों का दौरा किया.

> इस दौरे के एक ही दिन बाद रावलपिंडी में पाकिस्तानी सेना के अधिकारियों की आइएसआइ के अधिकारियों की मौजूदगी में हिजबुल मुजाहिदीन और लश्कर के तीन कमांडरों के साथ बैठक हुई है.

पिछले तीन दिनों की बात करें तो एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय सीमा और लाइन ऑफ कंट्रोल पर गोलीबारी का दौर शुरू हो गया है. खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के मुताबिक इसी गोलीबारी की आड़ में आतंकियों के साथ ये बैट दस्ता भी घुसपैठ करने की फिराक में है. इसका मकसद है भारतीय चौकियों और सीमा पर रह रहे ग्रामीणों को निशाना बनाना. सीमा पार इसी चाल को देखते हुए भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here