श्रीलंका चुनाव: PM मोदी ने महिंदा राजपक्षे को दी बधाई, कहा- विशेष ऊंचाइयों तक लें जाएंगे संबंध | nation – News in Hindi

0
15
सुशांत सिंह राजपूत केसः रिया चक्रवर्ती समेत 6 के खिलाफ CBI ने दर्ज किया केस

पीएम मोदी ने महिंदा राजपक्षे को दी बधाई (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोविड-19 (COVID-19) महामारी की बाधाओं के बावजूद चुनावों को प्रभावी ढंग से आयोजित करने के लिए सरकार और श्रीलंका के चुनावी संस्थानों की सराहना की.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को श्रीलंका (Sri Lanka) के प्रधानमंत्री से एच.ई. महिंदा राजपक्षे (PM HE Mahinda Rajpaksha) से टेलीफोन पर बातचीत की और उन्हें श्रीलंका में संसदीय चुनावों के सफल आयोजन के लिए उन्हें बधाई दी. पीएम मोदी ने फोन पर कहा- “धन्यवाद, प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे! आपसे बात करके खुशी हुई. एक बार फिर, बहुत-बहुत बधाई. हम द्विपक्षीय सहयोग के सभी क्षेत्रों को आगे बढ़ाने और अपने विशेष संबंधों को नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए मिलकर काम करेंगे.”

पीएम मोदी के टेलीफोन पर श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने कहा बधाई फोन के लिए पीएम मोदी का धन्यवाद. श्रीलंका के लोगों के मजबूत समर्थन के साथ, मैं दोनों देशों के बीच लंबे समय से चले आ रहे सहयोग को और बढ़ाने के लिए आपके साथ मिलकर काम करना चाहता हूं. श्रीलंका और भारत दोस्त हैं.

प्रधानमंत्री ने कोविड-19 (COVID-19) महामारी की बाधाओं के बावजूद चुनावों को प्रभावी ढंग से आयोजित करने के लिए सरकार और श्रीलंका के चुनावी संस्थानों की सराहना की. उन्होंने चुनावों में उत्साही भागीदारी के लिए श्रीलंकाई लोगों की सराहना भी की, और कहा कि इससे दोनों देशों द्वारा साझा किए गए मजबूत लोकतांत्रिक मूल्यों परिलक्षित होता है.

दोनों नेताओं ने साथ काम करने की जताई प्रतिबद्धताप्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि चुनावों के आने वाले परिणाम श्रीलंका पोदुजाना पेरमुना (एसएलपीपी) पार्टी द्वारा एक प्रभावशाली चुनावी प्रदर्शन का संकेत देते हैं. इस संबंध में उन्होंने एच.ई. श्री महिंदा राजपक्षे को शुभकामनाएं दीं. उनके सौहार्दपूर्ण और फलदायी पिछली बातचीत को याद करते हुए, दोनों नेताओं ने भारत-पुराने और बहुआयामी भारत-श्रीलंका संबंधों को मजबूत करने के लिए अपनी साझा प्रतिबद्धता को दोहराया. उन्होंने द्विपक्षीय सहयोग के सभी क्षेत्रों में शीघ्र प्रगति के महत्व पर बल दिया.

भारी जीत की ओर अग्रसर है राजपक्षे
बता दें श्रीलंका के प्रभावशाली राजपक्षे परिवार द्वारा नियंत्रित श्रीलंका पीपुल्स पार्टी (एसएलपीपी) गुरुवार को घोषित किए गए शुरुआती परिणामों के अनुसार संसदीय चुनाव में भारी जीत की ओर अग्रसर है. सिंहली बहुल दक्षिण क्षेत्र से अब तक पांच परिणामों की घोषणा की गयी है. इनमें एसएलपीपी को 60 प्रतिशत से अधिक मत मिले हैं. एसएलपीपी की निकटतम प्रतिद्वंद्वी एक नयी पार्टी है जिसकी स्थापना सजीथ प्रेमदासा ने की है. प्रेमदासा ने अपनी मूल पार्टी यूनाइटेड नेशनल पार्टी (यूएनपी) से अलग होकर नयी पार्टी बनायी है. चुनाव परिणामों के अनुसार यूएनपी चौथे स्थान पर है.

आधिकारिक परिणामों से पता चलता है कि मार्क्सवादी जनता विमुक्ति पेरामुना (जेवीपी) ने भी यूएनपी की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है. तमिल बहुल उत्तर क्षेत्र में, मुख्य तमिल पार्टी को जाफना में एक क्षेत्र में जीत मिली है जबकि राजपक्षे की सहयोगी ईलम पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (ईपीडीपी) ने जाफना जिले के एक अन्य क्षेत्र में तमिल नेशनल एलायंस (टीएनए) को हराया है.

मतदान बुधवार को हुआ था. मतों की गिनती गुरुवार सुबह शुरू हुई. मतों की गिनती शुरू होते ही एसएलपीपी के संस्थापक बेसिल राजपक्षे ने कहा कि पार्टी नयी सरकार बनाने के लिए तैयार है. (भाषा के इनपुट सहित)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here