बिल गेट्स ने बताया, कब बाजार में आ जाएगी वैक्‍सीन और कब पूरी तरह खत्‍म होगा कोरोना वायरस | business – News in Hindi

0
11
पढ़ाई में नहीं लगता था मन, फिर वो दुनिया का सबसे धनी शख्स बन गया | career-career - News in Hindi

माइक्रोसॉफ्ट के संस्‍थापक बिल गेट्स ने बताया कि कोरोना वैक्‍सीन अगले साल की शुरुआत में उपलब्‍ध हो जाएगी.

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के संस्‍थापक बिल गेट्स (Bill Gates) ने कहा कि कोविड-19 वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) साल 2021 के शुरुआत में आ जाएगी. उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि वैक्‍सीन के अलावा इलाज के लिए तैयार की जा रही दवाइयों से मृत्‍युदर (Death rate) में लगातार कमी होगी.

नई दिल्‍ली. पूरी दुनिया को कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को जीतने के लिए वैक्‍सीन (Coronavirus Vaccine) के तैयार होकर बाजार में उपलब्‍ध होने का बेसब्री से इंतजार है. ऐसे में दुनियाभर के वैज्ञानिक और शोधकर्ता दिनरात कोरोना वैक्‍सीन बनाने में जुटे हैं. इस समय कई वैक्‍सीन ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) के अलग-अलग चरण में हैं. इनमें ब्रिटेन की ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) की कोविड-19 वैक्‍सीन सबसे आगे चल रही है. इसी बीच, दिग्‍गज टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के संस्‍थापक बिल गेट्स (Bill Gates) ने बताया कि कोरोना वैक्‍सीन कब तक बाजार में आ जाएगी.

‘शुरुआत में सिर्फ अमीर देशों को ही उपलब्‍ध हो सकती है वैक्‍सीन’
बिल गेट्स ने कहा कि कोविड-19 वैक्‍सीन अगले साल की शुरुआत में उपलब्‍ध होगी. उन्‍होंने कहा, ‘संभव है कि शुरुआत में वैक्‍सीन सिर्फ अमीर देशों (Wealthier Nation) को ही उपलब्‍ध हो.’ साथ ही उन्‍होंने आशंका जताई कि शुरुआती वैक्‍सीन वायरस के खिलाफ बहुत ज्‍यादा प्रभावी नहीं होगी. शुरुआती वैक्‍सीन लंबी अवधि के लिए आदर्श नहीं होगी. ज्‍यादा प्रभावी वैक्‍सीन (Effective Vaccine) आने में थोड़ा समय लग सकता है. उन्‍होंने कहा कि अमेरिका को इस मामले में वैश्विक सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए. उन्‍होंने पूरी दुनिया के हितों के बारे में सोचना चाहिए.

ये भी पढ़ें- Lupin ने लॉन्च की COVID-19 की दवा Covihalt, कीमत सिर्फ 49 रुपएगेट्स ने अमेरिकों सांसदों से गरीब देशों की मदद की अपील की

माइक्रोसॉफ्ट के संस्‍थापक ने कहा कि उन्‍होंने अमेरिकी सांसदों को कम और मध्‍यम आय वाले देशों को कोविड-19 वैक्‍सीन खरीदने (Procurement of Vaccine) के लिए 8 अरब डॉलर की सहायता देने को प्रोत्‍साहित किया है. हमारी कोशिश है कि कोविड-19 सिर्फ अमीर देशों ही नहीं गरीब से गरीब देश में भी पूरी तरह से खत्‍म हो. बिल गेट्स की संस्‍था बिल एड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने कोविड-19 से संबंधित शोध के लिए 25 करोड़ डॉलर की मदद दी है. यही नहीं गेट्स एस्‍ट्राजेनेका, जॉनसन एंड जॉनसन और नोवावैक्‍स की बनाई कोविड-19 वैक्‍सीन का वित्‍तपोषण भी कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- 7 अगस्त से किसानों के लिए रेलवे चलाएगा ‘किसान विशेष पार्सल ट्रेन’, मिलेंगे कई फायदे

‘तमाम प्रयासों के दम पर 2021 के अंत तक मिल जाएगी निजात’
गेट्स ने कहा कि कोरोना वैक्‍सीन के अलावा कोविड-19 के मरीजों के इलाज (Treatment) के लिए तैयार की जा रही दवाइयों (Medicines) से मृत्‍युदर (Death rate) में लगातार कमी होगी. कोरोना वायरस के परीक्षण में नई-नई पहल, इलाज की खोज और वैक्‍सीन बनाने की दिशा में दुनिया तेजी से बढ़ रही है. ऐसे में उम्‍मीद की जा सकती है कि दुनिया 2021 के आखिर तक वैश्विक महामारी (Pandemic) से निजात पा लेगी. उन्‍होंने कहा कि इसका वास्‍तविक अंत तब होगा जब हम संक्रमण और वैक्‍सीन के बीच हर्ड इम्‍युनिटी (Herd Immunity) हासिल कर लेंगे.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here