राम मंदिर भूमि पूजन: मोहम्‍मद कैफ बोले, नफरत के एजेंटों को न दें एकता के रास्ते में आने की अनुमति | cricket – News in Hindi

0
7
राम मंदिर भूमि पूजन: मोहम्‍मद कैफ बोले, नफरत के एजेंटों को न दें एकता के रास्ते में आने की अनुमति

मोहम्मद कैफ ने दिया एकता का संदेश

पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने कहा कि यह मौका एकता दिखाने का है

नई दिल्ली. अयोध्या (Ayodhya) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने बुधवार को राम मंदिर का भूमि पूजन किया जिसके साथ मंदिर के निर्माण की शुरुआत हो गई. मोदी के साथ इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भी मौजूद थे. कई सेलिब्रिटिज ने सोशल मीडिया पर इसे बड़ा मौका बताया है. वहीं भारत के पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने खास संदेश दिया है.

मोहम्मद कैफ ने किया ट्वीट
मोहम्मद कैफ (Mohammad Kaif) ने फैंस से अपील की यह खास मौका है और इस दौरान किसी भी तरह की नफरत को बढ़ावा नहीं दिया जाए. कैफ ने ट्वीट में लिखा, ‘मैं इलाहाबाद जैसे शहर में पला-बढ़ा हूं जहां गंगा-जमुना की संस्कृति है, मुझे रामलीला देखना काफी पसंद रहा है. भगवान राम हर किसी के अंदर अच्छाई देखते थे. हमें उनकी विरासत को आगे बढ़ाना है. मैं आप सभी से अनुरोध करता हूं कि नफरत के एजेंटों को प्यार और एकता के रास्ते में आने की अनुमति न दें.’

सुरेश रैना और शिखर धवन ने भी दिया एकता का संदेशराम मंदिर भूमि पूजन के मौके पर भारत के स्‍टार खिलाड़ी सुरेश रैना (Suresh Raina) ने भी संदेश दिया. रैना ने सोशल मीडिया पर लिखा कि राम जन्‍मभूमि अयोध्‍या में भव्‍य राम मंदिर के शिलान्‍यास पर देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं. रैना ने लिखा कि मेरी मनोकामना है कि इससे लोगों में भाईचारा और देश में अमन, शांति और सुख चैन बढ़ें. सलामी बल्‍लेबाज शिखर धवन ने लिखा कि आज जश्‍न का दिन है और एक ऐसा दिन जो इतिहास के पन्‍नों में दर्ज हो जाएगा. इसमें शामिल सभी को बधाई.

अरबों के मालिक रोहित शर्मा की इतनी थी पहली सैलरी, दोस्‍तों के साथ पार्टी करके ‘उड़ाई’

IPL 2020: फाइव स्‍टार होटल नहीं, रिसॉर्ट और किराये के अपार्टमेंट में ठहरेंगी आईपीएल टीमें!

नरेंद्र मोदी ने कहा श्रीराम हैं संस्कृति का प्रतीक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि श्रीराम का मंदिर हमारी संस्कृति का आधुनिक प्रतीक बनेगा. हमारी शाश्वत आस्था का प्रतीक बनेगा, राष्ट्रीय भावना का प्रतीक बनेगा और ये मंदिर करोड़ों-करोड़ों लोगों की सामूहिक शक्ति का भी प्रतीक बनेगा. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हमें आपसी प्रेम-भाईचारे के संदेश से राम मंदिर की शिलाओं को जोड़ना है, जब-जब राम को माना है विकास हुआ है जब भी हम भटके हैं विनाश हुआ है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here