खुलासा: सचिन तेंदुलकर के बल्‍ले से शाहिद अफरीदी ने जड़ा था 37 गेंदों पर शतक | cricket – News in Hindi

0
8
खुलासा: सचिन तेंदुलकर के बल्‍ले से शाहिद अफरीदी ने जड़ा था 37 गेंदों पर शतक

शाहिद अफरीदी ने सचिन तेंदुलकर के बल्‍ले से कमाल किया था (फाइल फोटो )

शाहिद अफरीदी (shahid afridi) ने श्रीलंका के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्‍लेबाजी करते हुए 37 गेंदों पर उस समय का सबसे तेज वनडे शतक जड़ा था

नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान के पूर्व दिग्‍गज खिलाड़ी शाहिद अफरीदी (shahid afridi ) 37 गेंदों पर शतक जड़ने का कमाल कर चुके हैं. उस समय का यह सबसे तेज वनडे शतक था. करीब 18 साल तक अफरीदी के नाम यह रिकॉर्ड रहा. फिलहाल वनडे क्रिकेट में सबसे तेज शतक जड़ने का रिकॉर्ड एबी डिविलियर्स के नाम हैं. उन्‍होंने 2015 में 31 गेंदों पर शतक जड़ दिया था.

अफरीदी ने श्रीलंका के खिलाफ 40 गेंदों में ताबड़तोड़ बल्‍लेबाजी करते हुए 104 रनों की पारी खेली थी, मगर कम ही लोगों को पता होगा कि जिस पारी को खेलकर वह दुनियाभर में छा गए थे, उस पारी को उन्‍होंने महान बल्‍लेबाज भारत के सचिन तेंदुलकर (Shahid Afridi) के बल्‍ले से खेला था. दरअसल सचिन ने अपना बल्‍ला वकार यूनिस को गिफ्ट किया था. शाहिद अफरीदी के साथ खेल चुके अजहर महमूद का कहना है कि इस पारी के बाद अफरीदी पूरी तरह से बल्‍लेबाज बने. इससे पहले उनकी गिनती उन गेंदबाजों में होती थी, जो बल्‍लेबाजी भी कर सकता है.

नेट्स पर की गेंदबाजों की पिटाई
महमूद ने एक पॉडकास्‍ट में बताया कि 1996 में अफरीदी ने नैरोबी में डेब्‍यू किया था. उसी मैच में मैंने भी डेब्‍यू किया था. मुश्‍ताक अहमद उस सीरीज के चोटिल हो गए थे और मुश्‍ताक को रिप्‍लेस किया गया.महमूद ने कहा कि उन दिनों श्रीलंका के सलामी बल्‍लेबाज सनथ जयसूर्या और विकेटकीपर कुलविथारण काफी आक्रामक माने जाते थे. इसी वजह से हमें नंबर तीन पर आक्रामक बल्‍लेबाज की जरूरत थी. वसीम अकरम ने मुझे और अफरीदी को नेट्स पर अभ्‍यास करने के लिए कहा था. अफरीदी ने नेट्स में स्पिनर्स की जमकर पिटाई की.

नंबर 3 पर आए अफरीदी
इसके अगले दिन श्रीलंका के खिलाफ मैच में सलामी बल्‍लेबाज सलीम इलाही के आउट होने तक पाकिस्‍तान का स्‍कोर 60 रन पर एक विकेट था. इसके बाद नंबर तीन पर अफरीदी को भेजा गया और उन्‍होंने 11 छक्‍के, 6 चौके के साथ 37 गेंदों पर ही शतक जड़ दिया. तेंदुलकर के गिफ्ट में दिए बल्‍ले से अफरीदी की यह खास पारी थी. इसके बाद वो पूर्ण रूप से बल्‍लेबाज बने. उनका करियर शानदार रहा.

यह भी पढ़ें: 

इशांत शर्मा का खुलासा, शरीर से एमएस धोनी को 52 साल का लगता हूं, बीवी भी बूढ़ा बोलती है

अब नई जर्सी में नजर आएगी टीम इंडिया! बीसीसीआई ने जारी किया टेंडर
महमूद ने कहा कि खासकर 2011 वर्ल्‍ड कप में शाहिद अफरीदी ने अच्‍छी कप्‍तानी की. वह अपने सर्वश्रेष्‍ठ फॉर्म में थे. अफरीदी अच्‍छी गेंदबाजी भी कर रहे थे. उन्‍होंने अब्‍दुल कादिर से एक ऐसी गेंद फेंकनी सीखी थी, जो आपके पैड में घुसती है, जो हिट होती है. अफरीदी के लिए वह शानदार वर्ल्‍ड कप था, मगर दुर्भाग्‍य से भारत से हार गए.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here