सुशांत सिंह राजपूत केस: सुब्रमण्यम स्वामी ने पूछा, फोरेंसिक के लिए विसरा रिपोर्ट क्यों नहीं भेजी गई | mumbai – News in Hindi

0
5
सुशांत सिंह राजपूत केस: सुब्रमण्यम स्वामी ने पूछा, फोरेंसिक के लिए विसरा रिपोर्ट क्यों नहीं भेजी गई

सुब्रमण्यम स्वामी.

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) में सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने पूछा है कि कूपर हॉस्पिटल (Cooper Hospital) के डॉक्टरों द्वारा फोरेंसिक (Forensic) के लिए विसरा रिपोर्ट (Viscera Report) क्यों नहीं भेजी गई? क्या सुशांत को दिखावे के लिए फांसी देने से पहले जहर दिया गया था?

नई दिल्ली. पटना में एफआईआर दर्ज होने के बाद से एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) उलझता जा रहा है. बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने मुंबई पुलिस (Mumbai Police) से फिर एक सवाल पूछा है. उन्होंने पूछा है कि कूपर हॉस्पिटल (Cooper Hospital) के डॉक्टरों द्वारा फोरेंसिक (Forensic) के लिए विसरा रिपोर्ट (Viscera Report) क्यों नहीं भेजी गई? क्या सुशांत को दिखावे के लिए फांसी देने से पहले जहर दिया गया था?

एक दिन पहले शनिवार को स्वामी ने पूछा था कि मुंबई पुलिस ने सुशांत सिंह राजपूत केस में एफआईआर क्यों नहीं दर्ज की? पोस्टमार्टम रिपोर्ट को अनंतिम क्यों कहा गया? दोनों का एक ही कारण है- अस्पताल के डॉक्टरों को फोरेंसिक विभाग से एसएसआर की विसरा रिपोर्ट (Viscera Report) का इंतजार है ताकि पता चल सके कि उसे जहर दिया गया था या नहीं. इसके लिए सुशांत के नाखून भी भेजे गए हैं.

सुशांत के पिता केके सिंह ने पटना में एफआईआर दर्ज कराई है. सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने एक्टर की गर्लफ्रेंड और बॉलीवुड एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty), उनकी मां संध्या चक्रवर्ती (Sandhya Chakraborty), पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती (Indrajeet Chakraborty) और उनके भाई शोविक चक्रवर्ती (Showikk Chakraborty) सहित 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. उसके बाद महाराष्ट्र और बिहार दोनों राज्यों की पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. इन धाराओं में दर्ज किया गया है मुकदमा
राजपूत के पिता केके सिंह (74) ने बेटे की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) उनके परिवार के सदस्यों सहित और छह अन्य लोगों के खिलाफ उनके बेटे को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला 28 जुलाई को पटना में दर्ज कराया. इन सभी के खिलाफ पटना में पुलिस ने भादंसं की धाराओं 341, 342 (आपराधिक तरीके से बंधक बनाना), 380 (जिस घर में रहें, वहां चोरी करना), 406 (आपराधिक विश्वासघात), 420 (धोखाधड़ी) और 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) के आरोप में केस दर्ज किया गया है. सुशांत की लाश 14 जून को उनके बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में पाई गई थी.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here