भारतीय क्रिकेट फैंस को बड़ा झटका, फिर स्‍थगित हुई ये टी20 लीग | cricket – News in Hindi

0
5
भारतीय क्रिकेट फैंस को बड़ा झटका, फिर स्‍थगित हुई ये टी20 लीग

टीएनसीए जुलाई के अंत और सितंबर में इस प्रतियोगिता को कराना चाहता था

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लीग को स्‍थगित करने का फैसला किया गया. इस लीग का आयोजन अगले साल मार्च में किया जा सकता है.

चेन्नई. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) को पहले ही स्‍थगित कर दिया गया था और अब इसी खौफ के बीच यूएई में इसके आयोजन की संभावना बन रही है. इसी बीच भारतीय क्रिकेट फैंस के लिए बुरी खबर आ रही है. तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) का पांचवां चरण कोविड-19 महामारी के चलते दूसरी बार स्थगित करना पड़ा और अब टीएनसीए उम्मीद कर रहा है कि टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट की मेजबानी या तो इस साल नवंबर में या फिर अगले साल मार्च में की जाए.

इस लोकप्रिय टी20 लीग टूर्नामेंट का आयोजन 10 जून से 12 जुलाई तक होना था, लेकिन मई में तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) ने इसे स्थगित कर दिया, क्योंकि राज्य में तब कोरोना वायरस मामलों की संख्या काफी ज्यादा थी.

मार्च  में आयोजन की संभावनाटीएनसीए जुलाई के अंत और सितंबर में इस प्रतियोगिता को कराना चाहता था लेकिन स्वास्थ्य संकट के बढ़ने से वह टूर्नामेंट की मेजबानी की स्थिति में नहीं है. टीएनसीए के मानद सचिव आर एस रामासैमी ने विज्ञप्ति में कहा कि टीएनसीए जुलाई/अगस्त अंत से सितंबर अंत तक की विंडो देख रहा था कि टीएनपीएल टूर्नामेंट के पांचवें चरण को इस संभावित विंडो में खेला जा सकता है, लेकिन तमिलनाडु में मौजूदा कोविड-19 संबंधित मुद्दों को देखते हुए टीएनसीए इस विंडो में टूर्नामेंट की मेजबानी करने की स्थिति में नहीं होगा.

यह भी पढ़ें: 

IPL से भारत में होने वाले वर्ल्‍ड कप में इंग्‍लैंड के इस खिलाड़ी को होगा फायदा, खुद किया खुलासा

रोजर बिन्‍नी का बड़ा बयान, कहा-एमएस धोनी के अच्‍छे दिन गए, अपनी फिटनेस भी खो चुके हैं

इसके अनुसार कि हम नवंबर 2020 या 2021 में मार्च में इसके आयोजन की संभावना देखेंगे. राज्य के शीर्ष खिलाड़ी जैसे आर अश्विन, दिनेश कार्तिक, विजय शंकर और एम विजय इसमें खेलते हैं. इसमें खेलने वाले वरुण चक्रवर्ती और आर साई किशोर जैसे खिलाड़ियों को इंडियन प्रीमियर लीग टीमों ने भी चुना है. तमिलनाडु में अभी तक 2.4 लाख से ज्यादा कोरोना वायरस के मामले आ चुके हैं, जबकि राज्य में 3,935 लोगों की मौत हो चुकी है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here