एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता ने किया बड़ा खुलासा, कहा-धोनी की तरह बनना चाहते थे सुशांत सिंह राजपूत | cricket – News in Hindi

0
11
एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता ने किया बड़ा खुलासा, कहा-धोनी की तरह बनना चाहते थे सुशांत सिंह राजपूत

सुशांत ने निभाया था धोनी का किरदार

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने धोनी (MS Dhoni) की बॉयोपिक में उनका रोल किया जो कि काफी हिट रहा था

नई दिल्ली. पिछले महीने सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की आत्महत्या के बाद यह गुत्थी एक विवाद बन गई है. हर रोज इस मामले में नए खुलासे हो रहे हैं. इस बीत सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड और एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे (Ankita Lokhande) ने सामने आकर कई अहम बाते कही हैं. अंकिता ने यह खुलासा भी किया कि सुशांत हमेशा से भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) जैसा बनना चाहते थे. आपको बता दें कि सुशांत ने धोनी की बायोपिक में काम किया था जो बॉक्स ऑफिस पर हिट रही थी.

धोनी के रोल में हिट साबित हुए थे सुशांत सिंह राजपूत
सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने धोनी की बॉयोपिक में उनका रोल निभाया और उसे सिल्वर स्क्रीन पर कुछ इस तरह पेश किया कि एक पल को उनमें और धोनी में अंतर करना मुश्किल हो गया. इस फिल्म के लिए सुशांत सिंह राजपूत ने बहुत मेहनत की. धोनी के हाव-भाव सीखे. उनकी बल्लेबाजी का स्टाइल सीखा. मैदान में एंट्री हो या, क्रीज पर खड़े होने का स्टाइल. यहां तक कि उनके बोलने का अंदाज भी सुशांत सिंह राजपूत ने सीखा. सुशांत सिंह राजपूत ने धोनी का किरदार नहीं निभाया बल्कि उस किरदार को जीया.

धोनी की तरह बनना चाहते थे सुशांत सिंह राजपूतअंकिता ने एक टीवी चैलन को दिए इंटरव्यू में कहा कि उन्हें हैरानी होती है जब कोई सुशांत को डिप्रेस्ड कहता है. उन्होंने कहा कि मान नहीं सकती कि सुशांत डिप्रेस्ड थे. सुशांत के साथ कर चुकी अंकिता ने कहा, ‘आज लोग उसके बारे में तरह-तरह की बातें करते हैं. उन्हें डिप्रेस्ड बता रहे हैं , लेकिन यह नहीं हो सकता. सच ये है कि वो हमेशा मुझसे कहता था कि सक्सेस और फेलियर के बीच में एक लाइन होती है, वहीं लाइन जो जो महेंद्र सिंह धोनी फॉलो करते हैं. मैं भी उनकी तरह बनना चाहता हूं. चाहे कितनी ही बड़ी सफलता हो या कितनी ही बड़ी असफलता वह एक जैसा रहते हैं. सुशांत बोलता था कि मैं ऐसा ही बनना चाहता हूं.’

अंकिता ने आगे बताया कि सुशांत के लिए पैसा अहम नहीं था उनका जुनून अहम था. चार साल तक सुशांत के साथ रही अंकिता ने कहा, ‘सुशांत हमेशा मुझसे कहता था कि अगर सबकुछ खत्म भी हो जाए तो मैं फिर से अपना एम्पायर खड़ा कर लूंगा. अगर काम नहीं मिला तो मैं शॉर्ट फिल्म बनाऊंगा.उसकी क्रिएटिविटी, फिल्मों के लिए उसका पैशन बल्कि मैं कहना चाहूंगी कि जिंदगी के लिए उसका पैशन था.’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here