कोरोना काल में रेलवे ने रचा इतिहास, किए अब तक के 5 सबसे बड़े बदलाव

0
5
 डाक मैंसेजर सिस्टम- रेलवे ने गोपनीय जानकारी या बड़े फैसलों को व्यक्तिगत और डाक मैंसेजर के जरिए भेजने का सिलसिला बंद करने का फैसला लिया है. देश में अंग्रेजों ने जब रेलगाड़ी चलाई थी, तब से यह परंपरा चली आ रही है. दरअसल, चपरासी के पद पर नियुक्त व्यक्ति को डाक मैंसेजर का काम भी दिया जाता है. इसके तहत फाइलों, दस्तावेजों, संवेदनशील जानकारियों को रेलवे के अलग-अलग विभागों, जोन और डिवीजन में ले जाने का जिम्मा रहता है. लेकिन अब से यह काम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और ईमेल के जरिए ही किया जाएगा. रेल मंत्रालय का कहना है कि इससे खर्चों में कटौती होगी.


कोरोना काल में भारतीय रेलवे (Indian Railway) कई तरह की नई कोशिशें कर रहा है. जिसके तहत अभी तक 5 अहम बदलाव किए गए हैं.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here