बिहार: दो साल शिक्षण अनुभव वाले टीचर डिस्टेंस मोड से कर सकते हैं B. Ed, जानिए पूरा प्रोसेस | career-career – News in Hindi

0
3
बिहार: दो साल शिक्षण अनुभव वाले टीचर डिस्टेंस मोड से कर सकते हैं B. Ed, जानिए पूरा प्रोसेस | career-career - News in Hindi

प्रतीकात्मक तस्वीर

फिलहाल डिस्टेंस मोड के लिए B.Ed परीक्षा के संचालन का जिम्मा नालंदा खुला विश्वविद्यालय को ही दिया गया है.

बिहार में बीएड कोर्स करने के लिए दो विकल्प मौजूद हैं. इनमें एक है रेगुलर यानि नियमित कोर्स, दूसरा है डिस्टेंस मोड यानि पत्राचार माध्यम. रेगुलर कोर्स सभी के लिए खुला विकल्प है जबकि डिस्टेंस मोड में सेवारत शिक्षकों के लिए विकल्प उपलब्ध करवाया जाता है. इसके तहत बिहार में नालंदा यूनविर्सिटी में 500 और ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में 500 सीट निर्धारित हैं.

फिलहाल डिस्टेंस मोड के लिए B.Ed परीक्षा के संचालन का जिम्मा नालंदा खुला विश्वविद्यालय को ही दिया गया है. यानि यही परीक्षा आयोजित करवाने और रिजल्ट प्रकाशित करने के लिए नोडल एजेंसी है.

डिस्टेंस मोड में ये सकते हैं एडमिशन-  इसके लिए प्रवेश परीक्षा में उन अभ्यर्थियों का ही आवेदन मान्य होगा, जो केंद्र सरकार, राज्य सरकार, अर्द्ध सरकारी संस्थान या विधि द्वारा स्थापित संस्थान से स्थायी मान्यता प्राप्त प्राइमरी, मिडिल, सेकेंडरी या हायर सेकेंडरी स्कूल से नियमित या अस्थायी रूप में दो वर्षों का शैक्षणिक अनुभव पूरा किया हो.

ये भी पढ़ें- बिहार: पत्राचार माध्यम से B.Ed कोर्स का रिजल्ट आज, यहां देखें अपना रौल नंबरएनओयू में दाखिले के लिए आवेदक का दो साल का शैक्षणिक अनुभव पूरा होना चाहिए. इसके साथ अनारक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को कम से कम 50 प्रतिशत और आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए कम से कम 45 प्रतिशत अंकों के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त विवि से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन पास होना आवश्यक है.

अनारक्षित इंजीनियरिंग स्नातक के लिए 55 प्रतिशत और आरक्षित के लिए 50 प्रतिशत अंक होने अनिवार्य हैं. इन शर्तों को पूरा नहीं करनेवाले का आवेदन स्वतः निरस्त हो जाता है.

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019: बारिश पर भारी पड़ा वोटरों का उत्साह, भीग कर मतदान करने पहुंचे बूथ
100 अंकों का होता है पेपर : डिस्टेंस मोड बीएड के लिए प्रवेश परीक्षा में 100 अंकों का प्रश्नपत्र होता है. इसमें जेनरल और एकेडमिक नॉलेज से 50 प्रश्न पूछे जाते  हैं. सब्जेक्ट सिलेक्टिव प्रश्न 25 रहते हैं. प्रश्नपत्र के इन दोनों भागों में हर प्रश्न एक अंक का होता है.

इसके बाद एक निबंधात्मक प्रश्न रहता है जो 25 अंक का होता है. इस प्रश्नपत्र को हल करने के लिए ढाई घंटे का वक्त दिया जाता है. सबसे खास यह कि प्रवेश परीक्षा के लिए केंद्र सिर्फ पटना में रहता है. इसकी पूरी जानकारी आप  www.nalandaopenuniversity.com पर प्राप्त कर सकते हैं. 

ये भी पढ़ें-

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here