हथियारों की तस्करी का बड़ा अड्डा बना जोधपुर, सीएम गहलोत के गृह नगर में बेबस हुई पुलिस

बीते डेढ़ साल में ईस्ट पुलिस के थानों में इनसे जुड़ी 55 एफआईआर दर्ज की गई हैं. इनमें 98 पिस्टल व एक कारबाईन बरामद हुई है.

राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा शहर जोधपुर हथियार तस्करी का बड़ा अड्डा (Large base of arms smuggling) बनता जा रहा है. यहां मध्य प्रदेश के 4 जिलों से हथियार सप्लाई किए जा रहे हैं.

जोधपुर. किसी जमाने में शांत माने जाने वाला सनसिटी जोधपुर अब अशांत हो गया है. राजस्‍थान के मुखिया सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के गृह नगर जोधपुर शहर में अब गैंगवार, फायरिंग और जघन्य हत्याकांड आम बात हो गई है. राजस्थान के पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश के चार जिलों ने जोधपुर में आतंक मचा रखा है. मध्य प्रदेश के चार जिलों से जोधपुर में बड़े पैमाने पर हथियार तस्करी हो रही है. इसके चलते जोधपुर हथियार तस्करी का बड़ा अड्डा (Large base of arms smuggling) बन गया है. उन्हीं हथियारों के बलबूते पर बदमाश बेखौफ हो रहे हैं.

इसके कारण शहर में खुले आम फायरिंग और गैंगवार जैसी घटनाएं सामने आ रही हैं. मध्य प्रदेश के बड़वानी, खरगोन, धार और धानपुर जिलों से जोधपुर शहर में बड़े स्तर पर हथियारों की तस्करी होने लगी है. पिछले डेढ़ बरस में जोधपुर पुलिस ने 98 पिस्टल और कारबाइन जब्त किए हैं. जोधपुर में ये हथियार एमपी के इन चार जिलों से सप्लाई हो रहे हैं.

नेटवर्क को तोड़ने का प्रयास
जोधपुर (ईस्ट) के डीसीपी धर्मेन्द्र सिंह यादव इस नेटवर्क को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं. डेढ़ साल में ईस्ट पुलिस के थानों में इनसे जुड़ी 55 एफआईआर दर्ज की गई हैं. इनमें 98 पिस्टल और एक कारबाइन बरामद हुई है. पुलिस ने एमपी के एक हथियार तस्कर को भी गिरफ्तार किया है. डीसीपी धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि जोधपुर पुलिस एमपी पुलिस से संपर्क में है. वहां के चार जिलों में सप्लाई की चेन तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है.गैंगवार जैसी कई घटनाए आ चुकी हैं सामने

जोधपुर शहर में हथियार तस्करी के चलते अपराध बढ़ने लगे हैं. खासकर गैंगवार जैसी कई घटनायें सामने आ चुकी हैं. अभी कुछ दिनों में ऐसी दो वारदातें सामने आई हैं. इससे साफ जाहिर है कि एमपी से हथियार मिलने से यहां के बदमाश अब खुलेआम गंभीर अपराध करने से नहीं चूक रहे हैं. पिछले सप्ताह हिस्ट्रीशीटर विक्रम सिंह नांदिया और राकेश मांजू के बीच गैंगवार के चलते 9 राउंड फायरिंग हुई. वहीं उसके बाद 007 गैंग के जुड़े हिस्ट्रीशीटर अशोक विश्नोई ने पुलिस पर फायरिंग कर दी. पुलिस ने अशोक विश्नोई को गिरफ्तार कर उससे पिस्टल जब्त कर ली है.

200 बदमाशों के खिलाफ हिस्ट्रीशीट खुली हुई है
एमपी कनेक्शन पर जोधपुर पुलिस कमिश्नर जोस मोहन का भी कहना कि वे वहां की पुलिस से बातचीत कर नेटवर्क तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं. बकौल जोस मोहन शहर पुलिस बदमाशों को पकड़ने में जुटी हुई है. गैंगवार आपसी रंजिश की वजह से सामने आई है. बहरहाल जोधपुर पुलिस के रिकॉर्ड को देखें तो यहां 200 बदमाशों के खिलाफ हिस्ट्रीशीट खुली हुई है. इनमें से कई हिस्ट्रीशीटर पिस्टल व अन्य हथियारों के साथ चलने लगे हैं.




Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,735FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles