स्टीव स्मिथ को कप्तान बनाने के पक्ष में नहीं ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर, कहा- जगह खाली नहीं

स्टीव स्मिथ की कप्तानी के पक्ष में नहीं कोच जस्टिन लैंगर! (PC-AFP)

स्टीव स्मिथ (Steve Smith) ने मंगलवार को कहा था कि अगर उन्हें मौका मिला तो वो दोबारा ऑस्ट्रेलिया की कमान संभालना चाहेंगे, हालांकि कोच जस्टिन लैंगर ने उनके इस अरमान पर पानी फेर दिया है.

नई दिल्ली. स्टीव स्मिथ (Steve Smith) ने कहा है कि अगर उन्हें फिर से मौका मिलता है तो वह ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी करना पसंद करेंगे लेकिन हेड कोच जस्टिन लैंगर ने साफ किया कि अभी ऐसी कोई संभावना नहीं है. स्मिथ को 2018 में दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ के मामले में एक साल का प्रतिबंध झेलना पड़ा था. इस कारण उन्हें अपनी कप्तानी भी गंवानी पड़ी थी. स्मिथ ने ‘न्यूज कॉर्प’ से कहा, ‘मैंने निश्चित तौर पर इस पर बहुत गहन विचार किया और अब मुझे लगता है कि मैं उस स्थिति में पहुंच गया हूं जहां अगर मुझे फिर से मौका मिलता है तो उसके लिये उत्सुक रहूंगा. ‘ लैंगर ने हालांकि कहा कि ऑस्ट्रेलियाई कप्तानी पद अभी उपलब्ध नहीं है.

एबीसी स्पोर्ट के अनुसार लैंगर ने कहा, ‘हमारे पास दो बहुत अच्छे कप्तान हैं और आगे हमें दो महत्वपूर्ण प्रतियोगिताओं एशेज और टी20 विश्व कप में खेलना है. हमारा भविष्य उज्ज्वल दिखता है.’ उन्होंने कहा, ‘मीडिया में चल रही चर्चा के बावजूद कप्तानी का पद उपलब्ध नहीं है. ‘

Youtube Video

स्मिथ की कप्तानी पर चर्चा करेगा क्रिकेट ऑस्ट्रेलियामीडिया रिपोर्ट के अनुसार क्रिकेट आस्ट्रेलिया बोर्ड अगली बैठक में तय करेगा कि स्मिथ की कप्तान के रूप में वापसी होनी चाहिए या नहीं. इसमें कहा गया है कि एजेंडा में कप्तान पर चर्चा भी शामिल है. गेंद से छेड़छाड़ के मामले के बाद टीम की हर हाल में जीत दर्ज करने के रवैये की समीक्षा की गयी. स्मिथ ने प्रतिबंध समाप्त होने के बाद एशेज 2019 में अपनी टीम की जीत में मदद की लेकिन कप्तानी की चर्चा से दूर रहे.

NZ VS BAN: बिना लक्ष्य के खेलने उतरी बांग्लादेश की टीम, 9 गेंद बाद बदला 2 बार टारगेट!

उन्होंने कहा, ‘अगर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया चाहता है और यह टीम के लिये सर्वश्रेष्ठ है तो निश्चित तौर पर इसमें मेरी दिलचस्पी होगी. ‘ स्मिथ ने कहा कि यह विवाद ताउम्र उनके नाम के साथ जुड़ा रहेगा लेकिन वह इसे फिर से कप्तानी संभालने की राह में रोड़ा नहीं बनने देंगे. उन्होंने कहा, ‘मैं टीम की कप्तानी करूं या न करूं मुझे केपटाउन की घटना के साथ जीना होगा. मैंने पिछले कुछ वर्षों में काफी कुछ सीखा है और एक इंसान के रूप में अधिक परिपक्व हुआ हूं. ‘ स्मिथ ने कहा, ‘मुझे लगता है कि अगर मौका मिलता है तो उसे संभालने के लिये बेहतर स्थिति में रहूंगा. अगर ऐसा नहीं होता है तो मैं तब भी टीम के कप्तान का उसी तरह से समर्थन जारी रखूंगा जैसे (टेस्ट कप्तान) टिम (पेन) और फिंची (वनडे कप्तान आरोन फिंच) का समर्थन करता रहा हूं. ‘





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,733FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles