वर्ल्ड आटिज्म डे पर नीली रोशनी में नहा गया जयपुर का अल्बर्ट हॉल, लेकिन कोविड के चलते…

वल्र्ड आटिज्म डे पर नीली रोशनी में नहा गया जयपुर का अल्बर्ट हॉल

दो अप्रैल को आटिज्म डे पर यहां जागरुकता कार्यक्रम किए जाते हैं. ऑटिज्म एक मानसिक रोग है, जिसमें बच्चे का दिमाग पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाता है. इसी के प्रति जागरुक करने के लिए यह दुनियाभर में मनाया जाता है.

जयपुर. विश्व ऑटिज्म डे ( World Autism Day) पर अल्बर्ट हॉल ( Albert Hall) नीली रोशनी में नहा गया. इस साल भी कोविड के कारण यहां कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम तो नहीं हुआ, लेकिन शुक्रवार को इसकी चमक ने सभी का मन मोह लिया. दो अप्रैल को आटिज्म डे पर यहां जागरुकता कार्यक्रम किए जाते हैं. ऑटिज्म एक मानसिक रोग है, जिसमें बच्चे का दिमाग पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाता है. इसी के प्रति जागरुक करने के लिए यह दुनियाभर में मनाया जाता है.

दुनिया भर में विश्व ऑटिज़्म जागरूकता दिवस मनाया जा रहा है. यह खास दिन हर साल 2 अप्रैल को लोगों को ऑटिज्म के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया जाता है.  शुक्रवार को आटिज्म डे पर जागरूकता के लिए राजधानी जयपुर के सबसे खास म्यूजियम अल्बर्ट हॉल को पूरी तरह से नीली रोशनी में सजाया गया है. हर साल जयपुर में इस खास दिन पर जागरूकता के विशेष कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं, लेकिन पिछले साल को तरह  इस साल भी कोरोना की वजह अल्बर्ट हॉल पर कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया.

अल्बर्ट हॉल से ऑटिज्म डे पर लोगों को जागरुक करने के लिए अल्बर्ट हॉल को पूरी तरह नीले रंग में जगमग किया गया है. अल्बर्ट हॉल के अधीक्षक डॉ राकेश छोलक ने बताया कि पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग की ओर से हर साल ऑटिज्म को लेकर जागरूकता के लिए कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं. दरअसल, ऑटिज्म एक मानसिक रोग है, जिसमें बच्चे का दिमाग पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाता है. ऑटिज्म के शुरुआती लक्षण 1-3 साल के बच्चों में नजर आते हैं. आमतौर पर लोगों में इसके प्रति जागरूकता नहीं होती है. इसीलिए  विश्व स्वालीनता दिवस  (World Autism Day) के अवसर पर दो अप्रैल को अल्बर्ट हॉल संग्रहालय को नीली रोशनी से प्रकाशित किया गया है.

कोविड-19 के चलते इस मौके पर अल्बर्ट हॉल में पिछले वर्षों की तरह कार्यक्रम आयोजित नहीं किये गए. लेकिन अल्बर्ट हॉल को नीली रोशनी से प्रकाशित कर आमजन को संदेश  देने का प्रयास किया गया है.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,735FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles