लखनऊ यूनिवर्सिटी: हॉस्टल में छात्राओं के ‘वल्गर टॉप्स’, घुटने से ऊपर कपड़े पहनने पर रोक! LU ने झाड़ा पल्ला

लखनऊ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स छात्रावास में छात्राओं की ड्रेस को लेकर एक नोटिस सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

Lucknow News: लखनऊ यूनिवर्सिटी के तिलक गर्ल्स हॉस्टल की प्रोवोस्ट की तरफ से एक नोटिस सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें कहा गया है कि कोई भी छात्रा घुटने से ऊपर कपड़े नहीं पहनेगी. शॉर्ट्स, मिनीस्कर्ट आदि पहनने पर 100 रुपए के जुर्माने का प्रावधान किया गया है.

लखनऊ. लखनऊ यूनिवर्सिटी (Lucknow Univeristy) के तिलक गर्ल्स छात्रावास (Tilak Girls Hostel) में छात्राओं के कपड़े पर लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन का अजीबोगरीब फरमान सामने आया है. दरअसल तिलक महिला छात्रावास में घुटनों से ऊपर कपड़े पहनने पर जुर्माना लगाने का आदेश जारी किया गया है. इसमें साफ किया गया है कि शॉट्स, मिनीस्कर्ट, माइक्रो स्कर्ट पहनने पर जुर्माना लगाया जाएगा. छात्रावास में बाकायदा नोटिस चिपकाया गया है कि स्पेगिटी, वल्गर ड्रेस पहनने पर पाबंदी है. घुटनों के ऊपर की ड्रेस, वल्गर टॉप पहनने पर जुर्माना देना होगा. इस संबंध में प्रॉक्टर प्रोफेसर दिनेश कुमार ने कहा कि मामला मेरे संज्ञान में आया है. वह शाम को खुद हॉस्टल जाकर देखेंगे.

मामले में तिलक हॉस्टल की प्रोवोस्ट द्वारा जारी नोटिस बोर्ड में साफ लिखा गया है कि कोई भी लड़की अपने ब्लॉक के बाहर शॉर्ट्स या घुटने से ऊपर की ड्रेस में नहीं घूम सकती है. यही नहीं स्पेगिटी और वल्गर टॉप में बाहर जाना भी मान्य नहीं है. अगर कोई भी लड़की इन नियमों को उल्लंघन करती पाई गई तो उस पर 100 रुपए जुर्माना लगाया जाएगा.

उधर तिलक गर्ल्स छात्रावास के नोटिस बोर्ड पर लगी ये नोटिस सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है और इस पर तमाम सवाल खड़े किए जा रहे हैं. तिलक महिला छात्रावास के प्रोवोस्ट की ओर से जारी इस नोटिस में छात्राओं को छात्रावास परिसर में बने 3 ब्लॉक में एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक शॉर्ट्स, घुटनों से ऊपर तक कपड़े, मिनीस्कर्ट और माइक्रो स्कर्ट को पहन कर जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है.

ये है वायरल नोटिस

lucknow university

लखनऊ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स छात्रावास में छात्राओं की ड्रेस को लेकर एक नोटिस सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

विवि प्रशासन ने झाड़ा पल्ला

मामला सुर्खियों में आने पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने इससे पल्ला झाड़ लिया है. प्रोवोस्ट डॉ. भुवनेश्वरी भारद्वाज ने न्यूज़ 18 से बातचीत में बताया कि मेरे द्वारा 1 मार्च 2021 से छात्राओं के देर से आने पर जुर्माना लगाया गया है. इनके द्वारा जुर्माना दिया तो नहीं जा रहा, हालांकि उसको कौशन मनी में एडजस्ट करने की बात कही गयी है. कई छात्राओं द्वारा अपने दोस्तों को हॉस्टल में रुकवाया भी जाता है. कई छात्रों में फाइन को लेकर विरोध भी है. उन्होंने कहा कि यह नोटिस मेरे संज्ञान में नहीं है, इस तरह की कोई नोटिस नहीं जारी की गई है. यह किसी की शरारत है.

क्या कहते है जिम्मेदार

वहीं लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर प्रो दिनेश कुमार ने बताया कि मामला मेरे संज्ञान में आया है. मेरे द्वारा शाम को खुद जाकर इसकी शिनाख्त की जाएगी.




Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,734FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles