राजनाथ सिंह की सभी राज्यपालों से कोरोना पर चर्चा, पूर्व सैनिकों से मदद की दरकार

राजनाथ सिंह (फाइल फोटो)

Rajnath Singh Meeting on Covid-19 Situation: राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि हिमाचल प्रदेश में बड़ी संख्या में पूर्व सैनिक हैं और यहां कई प्रकार से सैनिक व्यवस्था भी उपलब्ध है. यह दौर महामारी का है. इसलिए, इस दौरान राज्य को अपने पूर्व सैनिकों की सेवाएं कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लेनी चाहिए.

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से चारों तरफ हाहाकार (Coronavirus Second Wave) मचा हुआ है. रोजाना सैकड़ों की संख्या में संक्रमित लोगों की मौत हो रही है. कोरोना के बिगड़े हालातों को देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को सभी राज्य के राज्यपालों से बातचीत (Rajnath Singh meeting with governors) की. उन्होंने राज्यपालों से राज्य सरकारों को विश्वास में लेने के लिए कहा है. राजनाथ सिंह ने राज्यपालों से कहा कि वो अपने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर एक रास्ता निकालें जिसके तहत इस महामारी में पूर्व सैनिकों की सेवाएं ली जा सकें. इसके अलावा, अर्धसैनिक कर्मचारियों, नर्सों और डॉक्टरों को जो फोर्सेस से सेवानिवृत्त हुए हैं, उन्हें भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में शामिल किया जाना चाहिए. सैनिक गेस्ट हाउस व अन्य मेडिकल सुविधाओं का भी ले सकते हैं लाभ राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि हिमाचल प्रदेश में बड़ी संख्या में पूर्व सैनिक हैं और यहां कई प्रकार से सैनिक व्यवस्था भी उपलब्ध है. यह दौर महामारी का है. इसलिए, इस दौरान राज्य को अपने पूर्व सैनिकों की सेवाएं कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लेनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सैनिक गेस्ट हाउस, रेस्ट हाउस व अन्य मेडिकल सुविधाओं का भी लाभ लिया जा सकता है.कोरोना के विभिन्न पहलुओं की ली जानकारी राजनाथ सिंह ने इस बातचीत के दौरान राज्यपालों से उनके राज्यों में कोरोना वायरस महामारी के विभिन्न पहलुओं के बारे में जानकारी ली और उनसे महामारी के खिलाफ लड़ाई में राज्य प्रशासन को विश्वास में लेने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि सेना के तीनों अंगों द्वारा महामारी से लड़ने के लिए देश भर के नागरिक प्रशासन को मुहैया करायी जा रही सहायता की निगरानी कर रहे हैं. ये भी पढ़ेंः- कोरोना वायरस का भारतीय वेरिएंट कितना खतरनाक? विशेषज्ञों ने बताया सबकुछ

देश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन पहुंचा रही वायुसेना शुक्रवार से भारतीय वायुसेना ने कोविड-19 रोगियों के इलाज में अत्यावश्यक चिकित्सकीय ऑक्सीजन के वितरण को गति देने के लिए देश भर के विभिन्न फिलिंग स्टेशनों को खाली ऑक्सीजन टैंकर और कंटेनर हवाई मार्ग से पहुंचाये. भारतीय वायुसेना आवश्यक दवाओं के साथ-साथ देश के विभिन्न हिस्सों में निर्दिष्ट कोविड-19 अस्पतालों द्वारा आवश्यक उपकरणों का परिवहन भी कर रही है. मंगलवार को रक्षा मंत्री ने देश भर में पूर्व सैनिकों के योगदान वाली स्वास्थ्य योजना (ईसीएचएस) के तहत चलाई जा रही 51 चिकित्सकीय सुविधाओं में अतिरिक्त संविदा कर्मचारियों को काम पर रखने को मंजूरी दी.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,913FansLike
2,756FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles