मुंबई में पांच से अधिक संक्रमित मरीजों वाले भवनों को किया जाएगा सील

मुंबई में मंगलवार को 10 हजार से ज्यादा केस आए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Coronavirus Cases in Mumbai: मुंबई में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 10,030 नए मामले सामने आए तथा महामारी से 31 और मरीजों की मौत हो गई. मुंबई में अक्टूबर के बाद से किसी एक दिन में मृतकों की यह सर्वाधिक संख्या है

मुंबई. मुंबई में कोविड-19 के मामलों (Mumbai Covid-19 Cases) के तेज गति से बढ़ने के मद्देनजर बीएमसी ने पांच से अधिक संक्रमित मरीजों वाले किसी भी हाउसिंग सोसाइटी को सील करने का फैसला किया है. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) सोमवार को कुछ नयी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की. एसओपी के मुताबिक पांच से अधिक संक्रमित मरीजों वाले किसी भी हाउसिंग सोसाइटी को सील कर दिया जाएगा और उसे ‘सूक्ष्म निरूद्ध क्षेत्र’ माना जाएगा.

बीएमसी ने उसके नियमों का उल्लंघन करने वाली सहकारी हाउसिंग सोसाइटी पर जुर्माना लगाने की चेतावनी दी है. नगर निकाय ने कहा कि सील किये गये भवन के प्रवेश द्वार पर पुलिसकर्मी तैनात किये जाएंगे. एसओपी में कहा गया है कि नियमों का उल्लंघन करने पर हाउसिंग सोसाइटी पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

ये भी पढ़ें- दिल्ली: 24 घंटे वैक्सीन लगाने के आदेश जारी लेकिन नाइट कर्फ्यू ने बढ़ाई उलझन, जानिए कैसे मिलेंगे पास

मुंबई में 10 हजार से ज्यादा केसगौरतलब है कि मुंबई में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 10,030 नए मामले सामने आए तथा महामारी से 31 और मरीजों की मौत हो गई. मुंबई में अक्टूबर के बाद से किसी एक दिन में मृतकों की यह सर्वाधिक संख्या है. बृहन्मुंबई महानगर पालिका के आंकड़ों के अनुसार नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 4,72,332 हो गई जबकि मृतकों की संख्या 11,828 पर पहुंच गई. शहर में अब तक 3,82,004 मरीज ठीक हो चुके हैं और अभी 77,495 मरीज उपचाराधीन हैं.

इस बीच महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिला प्रशासन ने बाहर से आने वालों के लिए आरटी-पीसीआर जांच कराना अनिवार्य कर दिया है. कोल्हापुर कलेक्टर दौलत देसाई ने मंगलवार को कहा, “जिले में कोविड-19 का प्रसार अभी कम है लेकिन पुणे, सांगली और सतारा जैसे पड़ोसी जिलों में संक्रमण के अधिक मामले सामने आ रहे हैं.” उन्होंने कहा कि जो लोग कोल्हापुर जिले में आना चाहते हैं उन्हें आगमन से 48 घंटे पहले आरटी पीसीआर जांच करानी होगी और ‘निगेटिव’ रिपोर्ट साथ लानी होगी.

उन्होंने कहा कि टीके की दूसरी खुराक ले चुके लोगों के लिए यह अनिवार्य नहीं होगी.
(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,735FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles