माकपा और कांग्रेस पर बरसे अमित शाह, राहुल गांधी के केरल दौरे पर ली चुटकी Kerala Assembly Elections Amit Shah Attacks CPM Congress

केरल के चत्तनूर में एक जनसभा को संबोधित करते अमित शाह. (BJP4India Twitter/24 March 2021)

Kerala Assembly Elections 2021: केरल की सभी विधानसभा सीटों पर 6 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे, जबकि मतों की गिनती 2 मई को होगी.

परवूर (केरल). केरल के सत्तारूढ़ दल माकपा और विपक्षी कांग्रेस पर निशाना साधते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि दुनिया से कम्युनिस्ट विलुप्त हो गये हैं, जबकि भारत से कांग्रेस का सफाया हो चुका है. शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को भी निशाना बनाया और कहा कि वह तो (केरल में) पिकनिक पर थे.

गांधी ने एक दिन पहले ही राज्य में अपनी पार्टी के पक्ष में प्रचार किया था. शाह ने कोल्लम जिले में परवूर के पुत्तिंगल मंदिर के मैदान में एक जनसभा में कहा, ‘‘राहुल बाबा पिकनिक के लिए केरल आये थे. केरल के लोगों को उनसे पूछना चाहिए कि कैसे कांग्रेस एक तरफ केरल में कम्युनिस्टों से लड़ रही है, जबकि दूसरी तरफ बंगाल में दोनों एक दूसरे के साथी हैं.’’ उन्होंने कहा कि माकपा नीत एलडीएफ और कांग्रेस नीत यूडीएफ बस भ्रष्टाचार करेंगे और वे राज्य का कोई भला नहीं करेंगे.

भाजपा ने साधा केरल की LDF सरकार पर निशाना
दूसरी ओर, भाजपा ने बुधवार को केरल की सत्ताधारी वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) सरकार पर पिछले विधानसभा चुनाव में किए गए वादों को पूरा ना करने का आरोप लगाया और कहा कि राज्य में बेरोजगारी की दर राष्ट्रीय औसत से भी अधिक है. भाजपा प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने कहा कि केरल की जनता एलडीएफ और कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) से आजीज आ चुकी है और इस बार बदलाव चाहती है. उन्होंने कहा कि भाजपा ने केरल के सर्वांगीण विकास के लिए पूरा खाका तैयार किया है.

केरल सरकार पर जनता से किए वादे पूरे नहीं करने का आरोप
नई दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अग्रवाल ने एलडीएफ की ओर से पिछले चुनाव में किए गए वादों की सूची गिनाते हुए कहा कि इनमें से अधिकांश पूरे नहीं किए गए. उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में अधोसंरचना की कमी है. पिछले विधानसभा चुनाव में एलडीएफ ने आईटी पार्क के विस्तार का वादा किया था, लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ. यही हाल कोच्चि मेट्रो का है. केंद्र को तीन साल तक इसकी मंजूरी नहीं मिली.’’

रोजगार के मुद्दे पर भाजपा ने केरल सरकार को घेरा

केरल की अर्थव्यवस्था में मंदी पर चिंता जताते हुए अग्रवाल ने कहा कि राज्य खाड़ी व अन्य देशों से भेजे जाने धन पर अत्यधिक निर्भर है और राज्य में रोजगार के बहुत कम अवसर है. उन्होंने कहा, ‘‘केरल में बेरोजगारी की दर राष्ट्रीय औसत से अधिक है. ना ही एलडीए और ना ही यूडीएफ ने रोजगार के अवसर पेदा करने के लिए कुछ किया.’’ गौरतलब है कि केरल की सभी विधानसभा सीटों पर 6 अप्रैल को वोट डाले
जाएंगे, जबकि मतों की गिनती 2 मई को होगी.




Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,735FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles