महाराष्ट्र में कोरोना के हालात बेकाबू, 24 घंटे में 49,447 नए मामले; 277 लोगों ने तोड़ा दम

मुंबई. देशभर में कोरोना के मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. भारत के एक दर्जन से ज्यादा राज्य कोरोना की दूसरी लहर (Corona second wave) का सामना कर रहे हैं, जिसे लेकर लोगों से लगातार एहतियात बरतने की अपील की जा रही है. खासकर महाराष्ट्र में कोरोना के सारे रिकॉर्ड्स टूट गए हैं. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 49447 नए मामले सामने आए आए हैं. वहीं, संक्रमण के कारण 24 घंटे में 277 लोगों की मौत हुई हैं.

जिस तरह से महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं उसे देखकर कयास लगाए जा रहे हैं कि राज्य सरकार जल्द ही मल्टीप्लेक्स, जिम और मॉल को बंद करने का फैसला सुना सकती है.

सिर्फ मुंबई में 9 हजार से ज्यादा मामले
सबसे बुरे हालात आर्थिक राजधानी मुंबई के हैं. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार,आज शहर में 9 हज़ार 90 नए कोरोना के मामले दर्ज किए गए. इसी दौरान 27 लोगों की मौत भी हुई. शहर में पिछले 24 घंटों के दौरान 5 हज़ार 322 लोग कोरोना संक्रमण से पूरी तरह ठीक हुए हैं. मुंबई में मौतों का कुल आंकड़ा 11 हज़ार 751 तक जा पहुंचा. इसके साथ ही कुल रिकवरी यानी ठीक होने वालों की संख्या 3 हज़ार 66 हज़ार 365 हो गई है. वहीं, नागपुर में 3,720 नए मामले और 47 मौतें दर्ज की गईं.

पुणे में लगा कर्फ्यू
पुणे सिटी पुलिस के संयुक्त आयुक्त रवींद्र शिस्वे ने बताया कि आज से पुणे शहर में सभी मॉल और सिनेमा हॉल, रेस्टोरेंट, खाने की दुकानें आदि बंद हैं. शाम 6 बजे से कर्फ्यू लागू है. जरूरी सेवाओं के लिए ट्रैवल करने की अनुमति होगी. जगह-जगह ट्रैफिक प्वाइंट बनाए गए हैं.

ये भी पढ़ेंः- West Bengal Assembly Elections : PM मोदी का तृणमूल कांग्रेस को जवाब, बोले-‘दीदी वाराणसी आपको बाहरी नहीं कहेगा’

पहली से 8वीं तक की परीक्षाएं रद्द
कोरोना के बेकाबू होते हालातों के कारण राज्य सरकार ने पहली से 8वीं तक की कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने का फैसला किया है. महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने बताया कि कक्षा 1 से 8वीं तक के महाराष्ट्र राज्य के सभी छात्रों को बिना किसी परीक्षा के अगली कक्षा में पदोन्नत कर दिया जाएगा.

उद्धव ठाकरे ने स्थिति पर जताई थी चिंता
इससे पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को राज्य के हालातों पर चिंता जाहिर की थी. राज्य के लोगों को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा था कि कोविड-19 के मामलों की रोकथाम के लिए एक या दो दिनों में सख्त पाबंदी लगायी जाएगी. उन्होंने कहा, अगर मौजूदा स्थिति बनी रही तो मैं लॉकडाउन लगाने की आशंका से इनकार नहीं सकता. ठाकरे ने कहा था कि हम बिस्तरों, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की उपलब्धता वाले बिस्तरों की संख्या में इजाफा करेंगे लेकिन स्वास्थ्य पेशेवरों को लेकर क्या करेंगे? हम और अधिक स्वास्थ्यकर्मी कहां से लाएंगे? पिछले एक साल में अधिकतर स्वास्थ्यकर्मी कोविड-19 की चपेट में आए हैं.

ठाकरे ने कहा, अब तक कोविड-19 टीके की 65 लाख खुराकें दी गयी हैं. गुरुवार को तीन लाख खुराकें दी गयी थी. मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग टीकाकरण के बाद भी संक्रमित हो रहे हैं क्योंकि वे मास्क नहीं पहन रहे.

Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,737FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles