भारत-बांग्लादेश का साझा फैसला, अब हर साल 6 दिसंबर को धूमधाम से मनेगा मैत्री दिवस

पीएम मोदी बांग्लादेश दौरे पर हैं. (तस्वीर-narendramodi twitter)

इसका फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना ने किया है. विदेश सचिव हर्षवर्ध श्रृंगला ने दोनों देशों के प्रतिनिधिमडंल के बीच हुई बातचीत की विस्तृत जानकारी दी है.

नई दिल्ली. भारत-बांग्लादेश अब हर साल 6 दिसंबर को मैत्री दिवस के रूप में मनाएंगे. दरअसल भारत ने 6 दिसंबर 1971 को बांग्लादेश को मान्यता दी थी. अब बांग्लादेश की आजादी के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में ये फैसला लिया गया है. इसका फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना ने किया है. विदेश सचिव हर्षवर्ध श्रृंगला ने दोनों देशों के प्रतिनिधिमडंल के बीच हुई बातचीत की विस्तृत जानकारी दी है.

विदेश सचिव ने बताया -मुक्ति संग्राम संबंधी वॉर मेमोरियल बनाने पर पीएम मोदी ने शेख हसीना को धन्यवाद दिया. बांग्लादेश के स्वतंत्रता संग्राम में भारतीय सैनिकों के बलिदान को बांग्लादेश भी याद कर रहा है. दोनों प्रधानमंत्रियों ने वॉर मेमोरियल का शिलान्यास किया.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,733FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles