फ्लाइट का टिकट वायरल होने पर फिर घेरे में अनिल देशमुख, VIDEO जारी कर दी सफाई

मुंबई. मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह (Parambir Singh) को लेकर महाराष्ट्र की सियासत में घमासान बढ़ता जा रहा है. राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर भ्रष्टाचार-वसूली समेत कई आरोप लगे हैं. सचिन वाजे से मुलाकात को लेकर भी गृहमंत्री देशमुख सवालों के घेरे में हैं. जिसके बाद शरद पवार को देशमुख के समर्थन में उतरना पड़ा. शरद पवार (Sharad Pawar) ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दावा किया कि अनिल देशमुख 15 फरवरी तक कोरोना के कारण अस्पताल में थे. इसके बाद वे बाद वह होम आइसोलेशन में चले गए. अब गृहमंत्री देशमुख की एक फ्लाइट टिकट वायरल हो रही है, जिससे 15 फरवरी को प्राइवेट विमान से मुंबई आए थे. इस पर गृहमंत्री अनिल देशमुख ने वीडियो ट्वीट करके सफाई दी है.

अनिल देशमुख ने इस फ्लाइट टिकट को लेकर ट्विटर पर एक वीडियो जारी कर सफाई दी है. उन्होंने बताया, ‘पिछले कुछ दिनों से इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया में मेरे बारे में कई गलत खबरें चल रही हैं. आप सबको मालूम है कि कोरोना के बीते एक साल के समय में मैं पूरे प्रदेश भर में घूमकर पुलिसकर्मियों से मिलता रहा. उनका हौसला बढाता रहा. बीते 5 फवरी को मेरी कोरोना रिपोर्ट पॉज़िटिव आई. 5 फरवरी से लेकर 15 फरवरी तक मैं अस्पताल में रहा.’

महाराष्ट्रः पवार के देशमुख का बचाव करने पर फड़नवीस का आरोप, मुद्दे को भटका रहे

देशमुख के मुताबिक, ’15 फरवरी को अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद डॉक्टर की सलाह थी कि मैं 10 दिन होम क्वारन्टीन में रहूं. ऐसे में 15 तारीख को ही मैं प्राइवेट जहाज से मुंबई आ गया. उसके बाद डॉक्टर्स की सलाह पर ही रोज देर रात में मैं पार्क में प्राणायाम के लिए जाता था.’

गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा, ‘नागपुर में मेरे हॉस्पिटल में रहने के दौरान और बाद में होम क्वारन्टीन के दरम्यान मैंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा कुछ मीटिंग्स और कार्यक्रम अटेंड किये थे. होम क्वारन्टीन के बाद 1 मार्च से हमारा बजट अधिवेशन शुरू होना था, जिसके लिए सत्र में प्रश्नोत्तर और सूचनाओं पर ब्रीफिंग के लिए कुछ अधिकारी मेरे घर पर आते थे. शासकीय काम से पहली बार 28 फरवरी को मैं मेरे घर से बाहर निकला.’

देशमुख पर लगे हैं 100 करोड़ की वसूली के आरोप
मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर वसूली के आरोप लगाए हैं. परमबीर का आरोप है कि देशमुख और सचिन वाजे फरवरी के मध्य में मिले थे. 15 फरवरी जब देशमुख डिस्चार्ज हो चुके थे. परमबीर का दावा है कि एक मुलाकात फरवरी के आखिर में भी हुई थी. मतलब जब देशमुख के होम आइसोलेशन की मियाद खत्म होती है. परमबीर सिंह के लेटर बम के बाद धमाके ने महाराष्ट्र की सियासत को हिला कर रख दिया है.

परमबीर सिंह पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए आरोपों की CBI जांच की मांग

शरद पवार के डिफेंस पर सवाल?
अनिल देशमुख के डिफेंस में उतरे शरद पवार के दावे पर एक दस्तावेज ने सवाल खड़े कर दिए हैं. इस कागज के मुताबिक, अनिल देशमुख 15 फरवरी को नागपुर से प्राइवेट जेट से मुंबई आए थे, विमान में देशमुख को मिलाकर कुल 8 यात्री थे. इस दस्तावेज के सामने आने से पहले अनिल देशमुख ने बाकायदा हिन्दी में अपना बयान जारी कर के भी यही दावा किया था कि वो नागपुर में होम आइसोलेशन में थे.

Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,735FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles