प्रवासी मजदूरों को रोकने के ल‍िए केजरीवाल सरकार ने बनाया प्‍लान, कोरोना पॉज‍िट‍िव होने पर जांची जाएगी RT-PCR रिपोर्ट

दिल्ली सरकार ने प्रवासी, दिहाड़ी और निर्माण कार्यो में लगे श्रमिकों के हित में एक और बड़ा फैसला लिया है. (File Photo)

दिल्ली सरकार की ओर से अब उन सभी मजदूरों और उनके परिवारों को 5 से ₹10000 अकाउंट में ट्रांसफर किए जाएंगे, जो कोरोना पॉजिटिव हो गये हैं. साथ ही दिल्ली सरकार इन सभी की RT-PCR रिपोर्ट की जांच पड़ताल आईसीएमआर (ICMR) पोर्टल पर करेगी. इस जांच पड़ताल करने के बाद सरकार इन सभी कोरोना पॉजिटिव मजदूरों के अकाउंट में आर्थिक सहायता राशि को अकाउंट में ट्रांसफर करेगी.

नई दिल्ली. दिल्ली में लगातार कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है. संक्रमित मरीजों की संख्या 98,000 को पार कर चुकी है. संक्रमण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) की ओर से लॉकडाउन (Lockdown) लगाया हुआ है. इसकी वजह से प्रवासी मजदूर पलायन भी कर रहे हैं. उन सभी की समस्या को देखते हुए सरकार ने जहां हाल ही में निर्माण मजदूरों के अकाउंट में ₹5000 ट्रांसफर किये थे. वहीं, निर्माण मजदूरों के हित में एक और बड़ा फैसला लिया है. दिल्ली सरकार की ओर से अब उन सभी मजदूरों और उनके परिवारों को 5 से ₹10000 अकाउंट में ट्रांसफर किए जाएंगे, जो कोरोना पॉजिटिव हो गये हैं. साथ ही दिल्ली सरकार इन सभी की RT-PCR रिपोर्ट की जांच पड़ताल आईसीएमआर (ICMR) पोर्टल पर करेगी. इस जांच पड़ताल करने के बाद सरकार इन सभी कोरोना पॉजिटिव मजदूरों के अकाउंट में आर्थिक सहायता राशि को अकाउंट में ट्रांसफर करेगी.

Youtube Video

चिकित्सकीय सहायता के रूप में दी जाएगी सहायता राशिदिल्ली सरकार के श्रम विभाग ने घोषणा की है कि इस महामारी में कोरोना पॉजिटिव हुए पंजीकृत निर्माण श्रमिकों और उनके परिवार वालों को चिकित्सकीय सहायता के रूप में 5 से 10 हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी. निर्माण श्रमिकों के RT-PCR रिपोर्ट की आईसीएमआर (ICMR) के पोर्टल पर जांच कर सहायता राशि को सीधे उनके खातों में भेजा जाएगा. ये सहायता राशि कोरोना काल के दौरान श्रमिकों के वित्तीय संकट को कम करने में मदद करेगी. स्कूलों, कंस्ट्रक्शन साइट्स पर 150 से अधिक फूड डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर शुरू 
दिल्ली सरकार (Delhi Government) द्वारा प्रवासी, दिहाड़ी और निर्माण कार्यों में लगे श्रमिकों की अन्य जरूरतों के पूरा करने के लिए दिल्ली के सभी जिलों में कई स्कूलों और कंस्ट्रक्शन साइट्स पर 150 से अधिक फूड डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर भी शुरू कर दिए है. इन केंद्रों के माध्यम से अब तक लगभग 83 हजार फूड पैकेट बांटे जा चुके है. श्रमिकों और प्रवासियों से दिल्ली न छोड़े की अपील दिल्ली सरकार ने कोरोना संकट के समय में प्रवासी, दिहाड़ी और निर्माण श्रमिकों की सहायता के लिए हमेशा तैयार है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने भी श्रमिकों और प्रवासियों से अपील की है कि वो दिल्ली न छोड़े क्योंकि दिल्ली सरकार उनके लिए सभी प्रकार की सहायता सुनिश्चित कर रही है. 2 लाख श्रमिकों को दी जा चुकी है 100 करोड़ की  राशि बताते ‌चलें कि दिल्ली सरकार ने राजधानी के पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को 5-5 हज़ार रुपये की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की गयी है. अब तक लगभग 2 लाख श्रमिकों को 100 करोड़ की सहायता राशि दी गई है.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,913FansLike
2,769FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles