टीम इंडिया की जीत की 5 बड़ी वजह, 2 गेंदों में पलट गया पूरा मैच- Five Big Reasons Of Team Indias Victory Against England in 4th T20

भारत और इंग्लैंड के बीच हुए चौथे टी20 में कप्तान विराट कोहली चोट के कारण मैदान से बाहर चले गए थे. उनकी गैरमौजूदगी में आखिरी के 4 ओवर में रोहित शर्मा ने टीम की कमान संभाली थी. (PIC:AP)

इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टी20 में मिली 8 रन से जीत के कारण भारत ने सीरीज 2-2 से बराबर कर ली. इस जीत में सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav), हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) और शार्दुल ठाकुर(Shardul Thuakur) का अहम योगदान रहा. सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) ने अंतरराष्ट्रीय टी20 की अपनी पहली पारी में 31 गेंद पर 57 रन बनाए.

अहमदाबाद. भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम (Narendra Modi Stadium) में हुए चौथे टी20 को 8 रन से जीतकर सीरीज 2-2 से बराबर कर ली (India vs England T20I Series). अब सीरीज का फैसला शनिवार को होने वाले आखिरी मुकाबले से होगा. भारत ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 185 रन बनाए. जवाब में इंग्लैंड की टीम निर्धारित ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 177 रन ही बना सकी. भारत की जीत में कई खिलाड़ियों का अहम योगदान रहा. इन पांच वजहों से भारत सीरीज में बराबरी कर पाया.

1- सूर्यकुमार यादव और श्रेयस अय्यर की पारी– चौथे टी20 में पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत कोई बहुत अच्छी नहीं रही थी. रोहित शर्मा (12), केएल राहुल(14) और कप्तान विराट कोहली(1) रन बनाकर आउट हो गए थे. ऐसे में इंटरनेशनल क्रिकेट में पहली बार बल्लेबाजी करने उतरे सूर्यकुमार यादव ने अच्छी पारी खेली. उन्होंने 31 गेंद पर 57 रन बनाए और अंतरराष्ट्रीय टी20 की अपनी पहली पारी में फिफ्टी जमाने वाले पांचवें भारतीय बने. उनसे पहले अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, रॉबिन उथप्पा और ईशान किशन ऐसा कर चुके हैं. उनके 57 रन की बदौलत भारत 185 रन बनाने में कामयाब रहा. छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए श्रेयस अय्यर ने भी आखिरी के कुछ ओवर में अच्छी बल्लेबाजी की. उन्होंने महज 18 गेंद पर 205 की स्ट्राइक रेट से 37 रन बनाए.

IND vs ENG: रोहित शर्मा बने टी20 क्रिकेट में 9000 रन पूरे करने वाले दूसरे भारतीय

2-हार्दिक पंड्या की किफायती गेंदबाजी– मैच से पहले हार्दिक पंड्या के टीम में सेलेक्शन को लेकर सवाल उठ रहे थे. लेकिन इस ऑलराउंडर ने अपने खेल की बदौलत सबकी बोलती बंद कर दी. इस मैच में भारत और इंग्लैंड की ओर से कुल 11 खिलाड़ियों ने गेंदबाजी की. इसमें पंड्या सबसे किफायती रहे और यही टीम इंडिया की जीत की सबसे बड़ी वजह बनी. पंड्या ने अपने 4 ओवर में 4 की इकोनॉमी रेट से सिर्फ 16 रन दिए. उन्होंने जेसन रॉय और सैम कर्रन का विकेट लिया.3-राहुल चाहर का बेयरस्टो को आउट करना– मैच में एक वक्त इंग्लैंड के 66 रन पर तीन विकेट गिर चुके थे. ऐसा लग रहा था कि भारत मैच पर अपनी पकड़ मजबूत कर लेगा. लेकिन जॉनी बेयरस्टो और बेन स्टोक्स ने चौथे विकेट के लिए 65 रन जोड़ते हुए मैच में इंग्लैंड को वापस ला दिया. खतरनाक होती इस जोड़ी को भारतीय लेग स्पिनर राहुल चाहर ने बेयरस्टो का विकेट लेकर तोड़ा. बेयरस्टो 25 रन बनाकर आउट हुए. चाहर ने डेविड मलान (14रन) को भी आउट किया.

4- शार्दुल ठाकुर के लगातार दो विकेट– तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर मैच में महंगे तो साबित हुए. लेकिन लगातार दो गेंदों पर बेन स्टोक्स (46 रन) और इंग्लैंड के कप्तान ऑयन मोर्गन (4 रन) का विकेट लेकर उन्होंने मैच पूरी तरह पलट दिया. ये भारत के लिए टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ. इन दो झटकों से इंग्लैंड की टीम उबर नहीं पाई और भारत ने मैच 8 विकेट से जीत लिया. शार्दुल भारत की ओर से सबसे ज्यादा तीन विकेट लेने वाले गेंदबाज भी रहे.

IND vs END: हार्दिक पांड्या ने गौतम गंभीर को दिया करारा जवाब, कोहली ने की जमकर तारीफ

5- रोहित की कप्तानी– आखिरी 24 गेंदों पर इंग्लैंड को जीतने के लिए 46 रन चाहिए थे और चोट की वजह से कप्तान कोहली मैदान से बाहर चले. उनकी गैरहाजिरी में उपकप्तान रोहित शर्मा ने टीम की कमान संभाली और यहीं से मैच का रुख भारत की ओर मुड़ गया. दरअसल, रोहित ने पारी के 17वें ओवर में शार्दुल को गेंदबाजी के लिए बुलाया. गेंदबाजी से पहले कप्तान ने उन्हें कुछ समझाया और अपनी पहली ही गेंद पर उन्होंने बेन स्टोक्स को आउट कर दिया. 46 रन पर खेल रहे स्टोक्स ने सूर्यकुमार यादव को कैच थमा दिया. अगली ही गेंद पर शार्दुल ने इंग्लैंड के कप्तान ऑयन मोर्गन को वॉशिंगटन सुंदर के हाथों कैच करवा दिया. इन दो विकेटों ने मैच का पासा ही पूरी तरह पलट दिया. इसके बाद रोहित ने 18वां ओवर हार्दिक को दिया. गेंदबाजी से पहले कप्तान रोहित ने उनसे भी बात की. ओवर की आखिरी गेंद पर सैम कर्रन को बोल्ड कर हार्दिक ने कप्तान रोहित के फैसले को सही साबित किया. पारी का आखिरी ओवर भी शार्दुल ही फेंकने आए. वो महंगे तो साबित हुए लेकिन इंग्लैंड को जीत के लिए जरूरी 23 रन नहीं बनाने दिए और मैच भारत की झोली में आ गया.




Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,733FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles