जानिए, कैसे राहुल द्रविड़ की एक सलाह से सुधरी चेतेश्वर पुजारा की टी20 बल्लेबाजी

चेतेश्वर पुजारा(Cheteshwar Pujara) सात साल बाद आईपीएल में खेलते नजर आएंगे. उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने नीलामी में खरीदा था. (CSK Twitter)

चेतेश्वर पुजारा( Cheteshwar Pujara) ने बीते कुछ सालों में अपनी छवि विशेषज्ञ टेस्ट बल्लेबाज के तौर पर विकसित की है. लेकिन 2021 में स्थितियां बदलीं और उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) ने आईपीएल नीलामी में 50 लाख रुपए की बेस प्राइस पर खरीदा. वो सात साल बाद लीग में खेलते नजर आएंगे.

नई दिल्ली. चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने बीते कुछ सालों में अपनी छवि विशेषज्ञ टेस्ट बल्लेबाज के तौर पर विकसित की है. उन्हें कभी भी सीमित ओवर क्रिकेट के खिलाड़ी के तौर पर नहीं देखा गया है. लेकिन 2021 में स्थितियां बदलती दिख रही हैं. वो सात साल बाद आईपीएल(IPL 2021) खेलेंगे. उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने नीलामी में 50 लाख रुपए की बेस प्राइस पर खरीदा. टी20 क्रिकेट में अपनी वापसी का श्रेय वो पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़(Rahul Draivid) को देते हैं. उनका कहना है कि द्रविड़ के समझाने पर वो इस फॉर्मेट में वापसी कर सके हैं.

पुजारा ने ईएसपीएन क्रिकइंफो को दिए इंटरव्यू मे कहा कि उन्हें पहले टी-20 खेलने को लेकर चिंता होती थी. उन्हें लगता था कि कहीं वे छोटे फॉर्मेट की वजह से टेस्ट क्रिकेट में उनका प्रदर्शन खराब न हो. इसी वजह से वे टी-20 क्रिकेट से दूर रहते थे. उन्होंने कहा कि द्रविड़ के समझाने पर वे इस फॉर्मेट में वापसी कर पाए.

द्रविड़ की सलाह से काफी मदद मिली: पुजारा
पुजारा ने आगे कहा कि करियर के शुरुआती सालों में मुझे लगता था कि टी-20 क्रिकेट के मुताबिक खुद को ढालने की कोशिश की, तो टेस्ट क्रिकेट भूल जाऊंगा. ऐसा लगता था कि कहीं तकनीक न खराब हो जाए, लेकिन अब ऐसा नहीं है. यह सब अनुभव की बात है. उन्होंने कहा कि अब यह डर खत्म हो चुका है. मैंने इतने सालों में जो सीखा है, वो ये है कि हमें अपना स्वाभाविक खेल खेलना चाहिए. अपनी ताकत पर फोकस करना चाहिए. इस तरह आप अपने खेल से कभी दूर नहीं जा पाएंगे. इसमें मुझे द्रविड़ ने काफी मदद की. उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हारा स्वाभाविक खेल कभी नहीं बदलेगा और तुम कुछ नए शॉट लगाना सीख लोगे.बड़ी खबर: आईपीएल पर कोविड-19 का कहर, विराट कोहली के साथी देवदत्त पडिक्कल हुए कोरोना पॉजिटिव

पुजारा ने कहा- टी20 से टेस्ट में स्विच करने में परेशानी नहीं होगी
पुजारा ने कहा कि मैंने 2005-06 में फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था. इस हिसाब से मुझे टेस्ट खेलते हुए 15 साल हो चुके हैं. इसलिए अब अगर मैं टी-20 फॉर्मेट खेलता भी हूं, तो टेस्ट में जिस तरह बल्लेबाजी करता हूं उसे नहीं भूल पाऊंगा. मुझे टी20 से टेस्ट में स्विच करने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी. अगर कोई खिलाड़ी टेस्ट का बेहतर बल्लेबाज है तो मेरी नजर में उसे सीमित ओवर क्रिकेट खेलने में मुश्किल नहीं आएगी.

पुजारा टी20 में एक शतक भी लगा चुके हैं
33 साल के इस बल्लेबाज ने भारत के लिए कोई अंतरराष्ट्रीय टी20 नहीं खेला है. उन्होंने पिछला IPL 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब(अब पंजाब किंग्स) टीम से खेला था. इससे पहले वो कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए भी खेल चुके हैं. उन्होंने आईपीएल में अब तक कुल 30 मैच खेले हैं. इसमें उन्होंने 99.74 के स्ट्राइक रेट से 390 रन बनाए हैं. पुजारा टी20 क्रिकेट में एक शतक भी लगा चुके हैं. उन्होंने 2019 में सौराष्ट्र की ओर से खेलते हुए रेलवे के खिलाफ शतक लगाया था.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,737FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles