क्या टॉस जीतने वाला ही भारत में जीतेगा टी20 वर्ल्ड कप, क्या है इसका तोड़?

India vs England: क्या भारत में टॉस जीतने का मतलब मैच जीतने की गारंटी बन गया है? (AFP)

भारत और इंग्लैंड सीरीज (India vs England) के पहले तीन टी20 मैचों में टॉस जीतने वाली टीम ने फील्डिंग चुनी और उनकी जीत हुई. अक्टूबर में भारत में टी20 वर्ल्ड कप होना है क्या उस दौरान भी यही फॉर्मूला चलेगा?

नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच चल रही टी20 सीरीज में एक बहुत ही खास बात देखने को मिली है. इस सीरीज के तीनों ही मुकाबलों में टॉस जीतने वाली टीम ने लक्ष्य का पीछा किया और उसे जीत मिली. पहला मैच इंग्लैंड ने जीता, दूसरा भारत और उसके बाद फिर मेहमान टीम ने बाजी मारी. सीरीज को बेहद करीब से देख रहे इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने सोशल मीडिया पर एक बेहद दिलचस्प ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि क्या भारत में टॉस जीतने वाली टीम ही मैच जीतेगी और क्या टी20 वर्ल्ड कप में भी ऐसा ही होगा? यही बात इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने भी लिखी.

ये सवाल बिलकुल जायज भी है क्योंकि अबतक तीनों टी20 मैचों में कुछ ऐसा ही देखने को मिला. भारत में होने वाले डे-नाइट टी20 मैचों में अकसर दूसरी पारी में खेलने वाली टीम को फायदा मिलता है क्योंकि उसकी बल्लेबाजी के दौरान ओस गिरती है जिससे गेंद अच्छे से बल्ले पर आने लगती है और गेंदबाज की स्विंग, स्पिन सब खत्म हो जाती है. अब अगर टी20 वर्ल्ड कप में भी ऐसा ही रहा और टीम इंडिया अगर कुछ मैचों में टॉस हार गई तो क्या वो मैच हार जाएगी? आइए हम आपको बताते हैं कि क्या है इस सवाल का जवाब.

टीम की गेंदबाजी में लाना होगा पैनापन
अक्टूबर महीने में भारत में रात के समय ओस पड़ने लगती है जिसका फायदा हमेशा बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम को मिलेगा. अब टॉस तो किसी टीम के हाथ में नहीं है ऐसे में उसे एक अच्छी रणनीति और गेंदबाजी को मजबूत कर इस दिक्कत से पार पाना होगा. टीम इंडिया की बात करें तो वो इंग्लैंड के खिलाफ बल्लेबाजी पर ज्यादा ध्यान दे रही है. इस टीम में नंबर 9 तक बल्लेबाजी है. जबकि वो चार ही स्पेशलिस्ट गेंदबाजों के साथ खेल रही है और उसके पांचवें गेंदबाज हार्दिक पंड्या हैं. टी20 वर्ल्ड कप में ये रणनीति टीम इंडिया को बहुत नुकसान पहुंचा सकती है.टॉस टीम इंडिया के हाथ में नहीं है लेकिन उसके थिंक टैंक को यही सोचकर मैदान पर उतरना चाहिए कि उसे लक्ष्य बचाना है. क्योंकि अगर उसकी बाद में बल्लेबाजी होती है तो नंबर 6 तक उसके पास ऐसे बल्लेबाज हैं जो आसानी से मैच जिता सकते हैं. लेकिन अगर टीम इंडिया को स्कोर बचाना हो तो उसे जरूर स्पेशलिस्ट गेंदबाजों की जरूरत पड़ेगी. इसके साथ-साथ गेंदबाजी में विविधता भी जरूरी होगी.

IND VS ENG: टी20 सीरीज बचाने के लिए भारत को करने होंगे 4 काम, नहीं तो इंग्लैंड की जीत पक्की!

फील्डिंग की अहमियत बढ़ेगी
गेंदबाज अगर मौके बनाएंगे तो उन्हें फील्डरों का साथ भी चाहिए होगा. लेकिन टीम इंडिया इस मोर्चे पर लगातार खराब प्रदर्शन कर रही है. ऑस्ट्रेलिया दौरे से ही उसका फील्डिंग स्तर गिरा है. अगर टी20 वर्ल्ड कप के दौरान भी टीम इंडिया कैच छोड़ेगी तो उसके लिए मैच जीतना मुश्किल होगा. ऐसे में साफ है टी20 वर्ल्ड कप में भारत को बल्लेबाजी से ज्यादा गेंदबाजी पर सोचने की जरूरत है. जो कि फिलहाल विराट एंड कंपनी नहीं कर रही है.




Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,737FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles