कोविड अस्पताल में CA परीक्षा की तैयारी करते मरीज की तस्वीर वायरल, लोगों ने कहा- डेडिकेशन को सलाम

कई लोगों ने परीक्षा की तैयारी कर रहे शख्स की तारीफ की तो कइयों ने कहा कि “‘टॉक्सिक प्रोडक्टिविटी” का जश्न नहीं मनाया जाना चाहिए. @Vijaykulange

Man found studying for CA exam in Covid hospital: कोरोना संक्रमित मरीज की इस तस्वीर को 2013 बैच के आईएएस ऑफिसर विजय कुलंगे ने पोस्ट किया था, जिसमें एक व्यक्ति को किताब, कॉपी और कैलकुलेटर के साथ बेड पर पढ़ाई करते देखा जा सकता है.

नई दिल्ली. बहुत कम लोग ऐसे होते हैं, जो लक्ष्य को पाने के लिए दर्द को भुला पाते हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमित होने के बावजूद एक शख्स के कोविड अस्पताल में बेड पर किताब, कॉपी और कैलकुलेटर के साथ पढ़ाई करने की तस्वीर बुधवार को ट्विटर पर वायरल हो गई. 2013 बैच के आईएएस ऑफिसर विजय कुलंगे (Vijay Kulange) के मुताबिक कोरोना संक्रमित मरीज चार्टर्ड अकाउंटेंट परीक्षा की तैयारी कर रहा था. तस्वीर के वायरल होने के बाद कई लोगों ने व्यक्ति के डेडिकेशन की तारीफ की और उसे करियर में कामयाबी के लिए शुभकामनाएं दीं. इस तस्वीर को आईएएस ऑफिसर विजय कुलंगे ने ट्विटर पर पोस्ट किया था. कुलंगे 2013 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं. कुलंगे वर्तमान में ओडिशा के गंजाम जिले के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट और कलेक्टर हैं. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि एक कोविड अस्पताल के दौरे के दौरान इस व्यक्ति से मुलाकात हुई. भयावह महामारी के दौर में एक छात्र के डेडिकेशन को देखकर आईएएस अधिकारी उसकी तारीफ किए बिना नहीं रह सके और अपने ट्विटर हैंडल से इस कहानी को साझा किया. मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कुलंगे ने कहा कि सफलता कोई संयोग नहीं है, लेकिन इसके लिए डेडिकेशन की जरूरत होती है. उन्होंने कहा कि अगर डेडिकेशन किसी का दर्द भुला देता है, तो सफलता उसके लिए सिर्फ औपचारिकता है.

तस्वीरः Vijay Kulange

आईएएस ऑफिसर विजय कुलंगे ने अपने ट्वीट में लिखा, “सफलता संयोग नहीं है. आपको डेडिकेशन की आवश्यकता होती है. मैं एक कोविड अस्पताल के दौरे पर गया और इस शख्स को सीए परीक्षा की तैयारी करते पाया. आपका डेडिकेशन दर्द भुला देता है, तो सफलता मात्र औपचारिकता है.” कुलंगे ने ट्वीट के साथ परीक्षा की तैयारी करते शख्स की तस्वीर भी साझा की.देखते ही देखते विजय कुलंगे का ये पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इस पोस्ट को अभी 39.8K लोगों ने लाइक किया, जबकि 5.9K से ज्यादा लोगों ने रिट्वीट किया है, हालांकि कई लोगों ने परीक्षा की तैयारी कर रहे शख्स की तारीफ की तो कइयों ने कहा कि “‘टॉक्सिक प्रोडक्टिविटी” का जश्न नहीं मनाया जाना चाहिए. बता दें कि इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने मंगलवार को सीए फाइनल और इंटरमीडिएट परीक्षा को टाल दिया है. पहले इंटरमीडिएट परीक्षा 22 मई से शुरू होने वाली थी और सीए फाइनल की परीक्षा 21 मई से आयोजित की जानी थी.

हालांकि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दोनों परीक्षाओं को टाल दिया गया है. नोटिस में ICAI ने कहा था कि परीक्षा की अगली तारीख परीक्षा से 25 दिन पहले घोषित की जाएगी.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,913FansLike
2,756FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles