कभी ममता बनर्जी की सरकार में थे नंबर 2, अब BJP का थाम चुके हैं हाथ-suvendu-adhikari-profile-nandigram-west-bengal-election-results-2021-bjp-tmc-mamata-banerjee-nodvkj

शुवेंदु अधिकारी

पश्चिम बंगाल की हाई-प्रोफाइल सीट नंदीग्राम (Nandigram) की सबसे हाई प्रोफाइल सीट नंदीग्राम के नतीजों पर सबकी नजरें टिकी हैं. यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मुकाबला उनके पुराने सहयोगी रहे शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) से है.

कोलकाता. पश्चिम बंगाल समेत 5 राज्यों में आज विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित किए जा रहे हैं. सुबह 8 बजे वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है. वहीं, पश्चिम बंगाल की हाई-प्रोफाइल सीट नंदीग्राम (Nandigram) से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के उम्मीदवार शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) मैदान में हैं. इस सीट पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) और लेफ्ट से मीनाक्षी मुखर्जी भी मैदान में हैं. शुरुआती रुझानों में शुवेंदु अधिकारी आगे चल रहे हैं. बता दें कि शुवेंदु अधिकारी पिछले साल ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी (TMC) छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. शुभेंदु का जन्म 15 दिसंबर 1970 को पूर्व मेदिनीपुर में हुआ. शुभेंदु के पिता शिशिर अधिकारी यूपीए सरकार में ग्रामीण विकास राज्य मंत्री के रूप में कार्यरत थे. ये भी पढ़ें- Assembly Elections 2021 Results: असम, बंगाल, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी की इन 5 सीटों पर रहेगी पूरे देश की नजर

Youtube Video

कांग्रेस के साथ शुरू की थी राजनीतिक सफर कांग्रेस के साथ अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत करने वाले शुभेंदु अधिकारी सबसे पहले साल 1995 में काउंसिलर चुने गए. इसके बाद साल 2006 में उन्होंने कांथी दक्षिण विधानसभा सीट पर चुनाव जीता. 2006 में ही उन्हें कांथी नगर निगम का चेयरमैन भी बना दिया गया. ये भी पढ़ें- 2021 विधानसभा चुनाव परिणाम समाचार: 5 राज्यों के चुनाव के सबसे तेज और सटीक नतीजे यहां देखें लाइव
तमलुक सीट से दो बार जीत चुके हैं लोकसभा चुनाव हालांकि, उन्हें साल 2007 में बड़ी पहचान मिली, जब उन्होंने पूर्वी मिदनापुर के नंदीग्राम आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. लोकसभा चुनाव 2009 और 2014 में उन्होंने तमलुक सीट से चुनाव जीता. साल 2016 में हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में उन्होंने नंदीग्राम सीट से दर्ज की. जिसके बाद वह ममता बनर्जी सरकार में मंत्री बने. ममता बनर्जी की सरकार में वह पश्चिम बंगाल के परिवहन, जल संसाधन और सिंचाई के साथ-साथ जलमार्ग मंत्री भी रहे.





Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,913FansLike
2,756FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles