एलडीएफ-यूडीएफ ने केरल को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाया: अमित शाह

परवूर/कोच्चि (केरल). केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने बुधवार को चुनावी राज्य केरल के दौरे के दौरान सत्ताधारी माकपा के नेतृत्व वाले एलडीएफ (LDF) और कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन यूडीएफ (UDF) पर निशाना साधते हुए कहा कि दोनों मोर्चों ने राज्य को “भ्रष्टाचार का गढ़” बना दिया है. शाह ने कोट्टायम जिले के कंजिरापल्ली और कोल्लम जिले के परवूर में दो चुनावी रैलियों को संबोधित करने के अलावा कोच्चि के त्रिपुनिथुरा और पलक्कड के कांजीकोड में रोड शो में हिस्सा लिया. उन्होंने आरोप लगाया कि एक के बाद एक राज्य में शासन करने वाले एलडीएफ और यूडीएफ ने राज्य को “भ्रष्टाचार का गढ़” बना दिया है. उन्होंने कहा, “जब यूडीएफ सत्ता में आती है तो हमें सौर घोटाले जैसे घपले देखने को मिलते हैं और जब एलडीएफ सत्ता में आता है तो डॉलर और सोना घोटाला होता है.”

परवूर के पुत्तिंगल मंदिर के मैदान में एक जनसभा में उन्होंने सबरीमला मंदिर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि अयप्पा के भक्तों पर एलडीएफ सरकार द्वारा की गई “ज्यादतियां” निंदनीय थीं और ऐसा देश के किसी और हिस्से में नहीं देखा गया. उन्होंने मंदिर के मैदान में कहा, “वामपंथी दल हमारी संस्कृति और परंपराओं को खत्म करने पर आमादा है…भाजपा सरकार का मानना है कि मंदिर से जुड़े मामलों में सरकार को दखल नहीं देना चाहिए और भक्तों को इन मुद्दों को सुलझाने देना चाहिए. ”

गौरतलब है कि इस मंदिर के प्रांगण में 10 अप्रैल 2016 को रखे गए पटाखों में अचानक आग लगने से 114 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

ये भी पढ़ें- यूपी के मंत्री बोले- अब मुस्लिम महिलाओं को बुर्के से भी दिलाई जाएगी मुक्तिराज्य सरकार द्वारा उच्चतम न्यायालय के 2018 के फैसले को लागू करने के निर्णय के बाद राज्य में हिंसक घटनाएं हुई थीं. न्यायालय ने अपने फैसले में सबरीमला में भगवान अयप्पा के मंदिर में सभी आयुवर्ग की महिलाओं को पूजा करने की इजाजत दे दी थी.

सोना तस्करी मामले में मुख्यमंत्री पर साधा निशाना
सोना तस्करी मामले में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन पर निशाना साधते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि माकपा नेता के घोटाले के मुख्य आरोपी से संबंध थे. कोट्टायम जिले के कंजिरापल्ली विधानसभा क्षेत्र में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, “मैं मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से इस सीधे सवाल का जवाब देने का आह्वान करता हूं- सोना तस्करी की मुख्य आरोपी आपके कार्यालय में काम करती थी या नहीं?”

दक्षिणी राज्य में चुनाव प्रचार के दूसरे चरण की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा, “क्या आपकी सरकार ने इस आरोपी को तीन लाख रुपये महीने का वेतन दिया या नहीं?” उन्होंने कहा, “यह श्री नारायण गुरु, चत्तांबी स्वामीगल और अय्यनकली की धरती है. इसलिये इस भगवान की अपनी धरती कहा जाता है. बारी-बारी से इस राज्य पर शासन कर रहे एलडीएफ और यूडीएफ ने इसे बर्बाद कर दिया.”

उन्होंने कहा कि एक समय था जब केरल देश का सर्वाधिक विकसित राज्य था, सबसे शिक्षित राज्य था और दुनियाभर के पर्यटक यहां आते थे.

उन्होंने आरोप लगाया, लेकिन बारी-बारी से राज्य पर शासन कर रही कम्युनिस्ट और कांग्रेस पार्टी ने केरल को “भ्रष्टाचार का गढ़” बना दिया.

उन्होंने लोगों से यहां कमल को खिलने का एक मौका देने का अनुरोध किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में इसे “नया केरल” बनाने का मौका देने की गुजारिश की.

ये भी पढ़ें- आखिरी बार IPL में उतरेंगे एमएस धोनी? सेना के कैमोफ्लेज ने दिये बड़े संकेत

उन्होंने कहा कि शांति व सद्भाव के लिये विख्यात रहा केरल अब वाम शासन में “भाजपा और विचार परिवार के कार्यकर्ताओं की हत्याओं से लाल हो गया है.”

उन्होंने कहा, “कम्युनिस्ट अब दुनिया भर में विलुप्त हो गये हैं. ऐसा है कि नहीं?…” उन्होंने वहां मौजूद लोगों से पूछा कि क्या वामदल और कांग्रेस अब खत्म हो गए हैं या नहीं.

कांग्रेस पर साधा निशाना
भाजपा नेता ने कहा कि अब समय आ गया है कि केरलवासियों को भाजपा को सत्ता में लाने के लिये मतदान करना चाहिए.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि उन्होंने ऐसी “धर्मनिरपेक्ष” पार्टी नहीं देखी जिसका केरल में इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) के साथ, पश्चिम बंगाल में पीरजादा के साथ, असम में बदरुद्दीन अजमल के साथ गठबंधन हो और जो महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ सत्ता का सुख भोग रही हो.

उन्होंने कांग्रेस पार्टी और उसके नेतृत्व के भ्रमित होने का आरोप लगाया.

कांग्रेस नेता और वायनाड से सांसद राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘‘ राहुल बाबा पिकनिक के लिए केरल आये थे. केरल के लोगों को उनसे पूछना चाहिए कि कैसे कांग्रेस एक तरफ केरल में कम्युनिस्टों से लड़ रही है जबकि दूसरी तरफ बंगाल में दोनों एक दूसरे के साथी हैं. ’’

शाह ने विजयन से यह जानना चाहा कि क्यों प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और सीमा शुल्क अधिकारियों पर हुए कथित हमले में किसी जांच के आदेश नहीं दिये गए.

शाह ने कहा कि अगर कोई और मुख्यमंत्री होता तो काफी पहले इस्तीफा दे चुका होता. उन्होंने कहा, “वाम दलों के गुंडों ने ईडी और सीमाशुल्क अधिकारियों पर हमला किया था. प्रशासन ने कोई जांच क्यों नहीं की.”

केंद्रीय मंत्री ने पलक्कड के कांजीकोड में शाम को एक रोड शो भी किया जहां से भाजपा ने ‘मेट्रोमैन’ ई श्रीधरन को अपना उम्मीदवार बनाया है. इस सीट पर छह अप्रैल को चुनाव होना है.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
2,737FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles